लाइव टीवी

प्रियंका के तौर-तरीकों से नाराज हुए नेता, कहा- कांग्रेस कोई प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं

Ajeet Singh | News18Hindi
Updated: November 21, 2019, 12:33 PM IST
प्रियंका के तौर-तरीकों से नाराज हुए नेता, कहा- कांग्रेस कोई प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं
दबी आवाज में लोगों का कहना है कि पार्टी का नया नेतृत्व मनमाने तरीके से काम कर रहा है और कांग्रेस के वफादार लोगों को इसका शिकार बनाया जा रहा है. (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (UPCC) से पुराने नेताओं को निकालने से नाराजगी का माहौल है. बुधवार को बुलाई गई थी 350 नेताओं की बैठक बुलाई गई थी, लेकन पहुंचे सिर्फ 40 ही थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 12:33 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कांग्रेस (Congress) की बिगड़ती स्थिति को संभालने के लिए पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कमान तो संभाल ली, लेकिन अब अंदरखाने कुछ सही नहीं दिख रहा है. पार्टी के पुराने और दिग्गज स्‍थानीय नेताओं को उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (UPCC) से निकालने को लेकर नाराजगी अब साफ दिखने लगी है. इस नराजगी की झलक उस समय दिखी जब यूपी कांग्रेस के मुख्यालय में पूर्व सांसद, विधायक, एमएलसी और विधानसभा चुनावों और लोकसभा चुनावों के उम्मीदवारों को बुधवार को बैठक के लिए बुलाया गया. चौंकाने वाली बात यह रही कि बुलाए गए 350 लोगों में से सिर्फ 40 नेता ही इस बैठक में पहुंचे. अब दबी आवाज में विरोध के सुर भी उठने लगे हैं. शीर्ष नेतृत्व के मनमाने तरीकों पर एक नेता ने तो यह पूर्व में आयोजित बैठक के दौरान यह तक कह दिया कि कांग्रेस कोई प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं है.

सोनिया गांधी तक पहुंची बात
पुराने लोगों को यूपीसीसी से निकालने की नाराजगी अब कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी तक पहुंच चुकी है. पिछले 15 ‌दिनों में दो बार इस संबंध में बैठक भी हो चुकी है. दबी आवाज में लोगों का कहना है कि पार्टी का नया नेतृत्व मनमाने तरीके से काम कर रहा है और कांग्रेस के वफादार लोगों को इसका शिकार बनाया जा रहा है. इस संबंध में पहली बैठक नवंबर के पहले सप्ताह में शिराज मेंहदी के घर पर आयोजित की गई थी. गौरतलब है कि इससे पहले मेंहदी ने अपना इस्तीफा अक्टूबर में सोनिया गांधी को सौंप दिया था, इस दौरान उन्होंने कहा था कि यूपी की नई टीम में एक भी शिया को नहीं लिया गया है.

'कांग्रेस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं'

दूसरी बैठक 14 नवंबर को आयोजित की गई. कहने को तो नेताओं का यह जमावड़ा पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को श्रद्धांजलि देने के लिए था, लेकिन इस दौरान कई बातों पर चर्चा भी की गई. इस दौरान एक नेता ने तो प्रियंका गांधी पर सीधा तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस कोई प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं है.

सोनिया ने बनाया डेलिगेशन बैठक में होगा
अब बताया जा रहा है कि तीसरी बैठक पूर्व विधायक रंजन सिंह सोलंकी के घर पर होने जा रही है. इस बैठक में सोनिया गांधी ने अपने चुने हुए कुछ खास नेताओं का डेलिगेशन भेजने का निर्णय लिया है. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता के अनुसार प्रियंका गांधी का युवाओं को कमान संभलवाने का प्लान काम करता नहीं दिख रहा है. साथ ही इसके चलते पार्टी को नुकसान हो रहा है. कांग्रेस में एक संतुलन की जरूरत है.
Loading...


ये भी पढ़ेंः BJP नेता की हत्‍या में आया था नाम, UP सरकार इस डॉन के परिवर को देगी मुआवजा!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 12:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...