UP: 17 जुलाई से शुरू होगी कांवड़ यात्रा, शराब बिक्री और स्लॉटर हाउस पर बैन

सरकार ने शिवभक्तों के लिए प्रदेश स्तर पर कांवड़ यात्रा मैनेजमेंट एप तैयार किया है. इस एप में शिवभक्तों के लिए शिविर, एंबुलेंस, पुलिस थाने से लेकर सभी प्रकार की सुविधाओं की जानकारी मौजूद रहेगी.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 11:46 PM IST
UP: 17 जुलाई से शुरू होगी कांवड़ यात्रा, शराब बिक्री और स्लॉटर हाउस पर बैन
इस बार यूपी सरकार ने कांवड़ यात्रा के लिए खास तैयारी की है.(फाइल फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 11:46 PM IST
उत्‍तर प्रदेश सरकार ने सावन के पवित्र माह में होने वाली कांवड़ यात्रा को इस बार भव्य तरीके से आयोजित कराने का फैसला किया है. सावन की शुरुआत होते ही 17 जुलाई से कांवड़िए बम-बम भोले, हर-हर महादेव के जयकारे लगाते हुए नजर आने लगेंगे. जबकि इस बार सरकार ने कांवड़िए के यात्रा मार्ग में शराब की बिक्री और बूचड़खानों के संचालन पर प्रतिबंध लगा रखा है.

राज्य सरकार के मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पांडेय ने आईएएनएस से कहा,'यात्रा के पहले जर्जर सड़कें और विद्युत व्यवस्था दुरुस्त की जाएगी. कांवड़ मार्ग को साफ करने और श्रद्धालुओं पर हेलिकॉप्टर से फूल बरसाने के आदेश दिए गए हैं. डीजे पर प्रतिबंध नहीं लगेगा, लेकिन सिर्फ भजन बजने चाहिए, फिल्मी गानों की अनुमति नहीं है. जबकि इस दौरान थर्मोकोल और पॉलीथिन के इस्तेमाल पर प्रतिबंध के आदेश दिए गए हैं.'

ऐसी होगी सुरक्षा
इस बार यूपी सरकार ने कांवड़ यात्रा में आठ हजार जवानों को तैनात करने का फैसला किया है. जबकि कांवड़ मार्ग पर हर पांच किलोमीटर के दायरे में यूपी-100 की पीसीआर खड़ी रहेगी. वहीं यूपी-100 का रेस्पांस टाइम पूरे प्रदेश में 23 मिनट से घटाकर 14 मिनट किया गया है. हालांकि कांवड़ यात्रा में यह रेस्पांस टाइम घटाकर 10 मिनट किया जाएगा.'

इसके अलावा कांवड़ यात्रा के दौरान दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के पुलिस कंट्रोल रूम को उत्तर प्रदेश के कंट्रोल रूम से जोड़ा जाएगा, ताकि इन सभी राज्यों की पुलिस में तालमेल रहे. इसके अलावा विशेष तौर पर उत्तराखंड सरकार से भी विस्तार से चर्चा की गई है, क्योंकि लाखों की संख्या में शिवभक्त हरिद्वार और गोमुख जाते हैं.'

शिवभक्तों के लिए सरकार ने बनाई एप
सरकार ने शिवभक्तों के लिए प्रदेश स्तर पर कांवड़ यात्रा मैनेजमेंट एप तैयार किया है. इस एप में शिवभक्तों के लिए शिविर, एंबुलेंस, पुलिस थाने से लेकर सभी प्रकार की सुविधाओं की जानकारी मौजूद रहेगी. जबकि इस एप की निगरानी प्रदेश स्तर पर बैठे उच्चाधिकारी करेंगे. यही नहीं, सरकार ने शिव मंदिरों में स्वच्छता, उचित पेयजल, बिजली और सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं. वहीं, भीड़ भरे स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे.
Loading...

कांवड़ जल भरने का ये होगा शुभ समय
उल्लेखनीय है कि कांवड़ में जल भरने का शुभ समय 18 जुलाई को द्वितीया तिथि के दौरान सुबह सूर्यादय से लेकर सूर्यास्त तक है. इस दौरान 18 जुलाई की रात से एनएच-58 पर भारी वाहनों का डायवर्जन किया जाएगा. जबकि 23 जुलाई से हाइवे पर वनवे व्यवस्था और 26 जुलाई से राजमार्ग को बंद करना प्रस्तावित है. रोडवेज और प्राइवेट बस अड्डे 19 जुलाई से शिफ्ट करने की योजना है. यह डायवर्जन 31 जुलाई की शाम तक प्रभावी रहेगा. हालांकि कांवड़ियों की संख्या के आधार पर इसमें बदलाव भी किया जा सकता है.

आपको बता दें कि हिंदू धर्म में सावन महीना शिव भक्तों के लिए काफी अहम माना जाता है. इसी महीने में शिव भक्त इस दौरान लाखों की संख्या में हरिद्वार और गंगोत्री सहित अनेक धामों की यात्रा करते हैं. इसलिए भक्तजन इस महीने में विशेष व्रत रखते हैं और शिव की पूजा-अर्चना करते हैं.
(एजेंसी इनपुट)

ये भी पढ़ें-

भारत में पक्षियों की तस्करी का नया रूट बने म्‍यांमार, मिजोरम और केरल, इतने करोड़ का है अवैध कारोबार

मेरठ RTO ऑफिस के बाहर रोजाना सजती है दलालों की मंडी, अधिकारी खामोश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 11:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...