लाइव टीवी
Elec-widget

उत्‍तर प्रदेश: 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा के दौरान होगी ऑनलाइन मॉनीटरिंग

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 15, 2019, 12:23 PM IST
उत्‍तर प्रदेश: 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा के दौरान होगी ऑनलाइन मॉनीटरिंग
यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि इस बार परीक्षा केंद्रों की संख्‍या में भी कमी की गई है.

यूपी बोर्ड मुख्‍यालय से सभी परीक्षा केंद्रो पर नजर रखने के लिए परीक्षा केंद्रो में लगे सीसीटीवी कैमरों और वाइस रिकार्डर को ब्रॉडबैंड कनेक्‍शन के जरिए इंटरनेट से जोड़ दिया है.

  • Share this:
प्रयागराज (Prayagraj) : उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में होने जा रही यूपी बोर्ड (UP Board) की परीक्षा में नकल रोकने के लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद (Secondary Education Council) अब परीक्षा केन्द्रों (Examination Center) में ब्रॉडबैंड और राउटर लगाने की तैयारी कर रहा है. इस कवायद के जरिए माध्यमिक शिक्षा परिषद (Secondary Education Council) वेब कास्टिंग के जरिए परीक्षा केंद्रो की ऑन लाइन मानीटरिंग (Online Monitoring) करना चाहती है.

यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव के अनुसार, इस कवायद के तहत सभी परीक्षा केंद्रो को एक आईडी और पासवर्ड जारी किया जाएगा. जिसके जरिए यूपी बोर्ड के दफ्तर में बैठकर परीक्षा केंद्रों की गतिविधियों को आसानी से देखा जा सकता है. यूपी बोर्ड की सचिव के मुताबिक नकल विहीन, पारदर्शी परीक्षा कराने के लिए पहले वर्ष जहां परीक्षा केन्द्रों में सीसीटीवी कैमरे लगवाये गए थे, वहीं दूसरे वर्ष उनमें वायस रिकार्डर लगवाया गया था.

उन्‍होंने बताया कि बोर्ड की इस कोशिश के बाद, न केवल नकल माफिया के हौसले पस्त हुए हैं, बल्कि नकल का ग्राफ भी गिरा है. इन दो कोशिशों के बाद, यूपी बोर्ड इस वर्ष परीक्षा में नकल रोकने के लिए नया प्रयोग करने जा रहा है. यूपी बोर्ड की सचिव ने कहा है कि इसके साथ ही नकल रोकने के लिए दूसरे उपाय भी जारी रखे जायेंगे. बोर्ड परीक्षा के लिए 2010 में कोडेड कापियां भेजी जा रही हैं.

यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव UP Board Secretary Nina Srivastava
यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव


घटाई गई परीक्षा केंद्रो की संख्‍या
उन्‍होंने बताया कि इस बार कापियों में कुछ नये फीचर्स भी जोड़े जा रहे हैं. जिससे नकल होने की संभावना को पूरी तरह से खत्म किया जा सके. इसके लिए दस जिलों में स्टेपल के बजाय सिलाई वाली कापियों को भेजा जायेगा. नकल रोकने के लिए ही इस बार परीक्षा केन्द्रों की संख्या भी कम कर दी गई है. पिछले वर्ष प्रदेश में जहां कुल 8354 परीक्षा केन्द्र बने थे, वहीं इस वर्ष 7761 परीक्षा केन्द्र प्रस्तावित हैं.

जल्‍द जारी होगी परीक्षा केंद्रो की सूची
Loading...

यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि नए परीक्षा केंदों की फाइनल सूची 30 नवम्बर तक जारी हो जाएगी. सचिव के मुताबिक इस बार यूपी बोर्ड ने राजकीय और एडेड कालेजों को परीक्षा केंद्र बनाये जाने में प्राथमिकता दी है, जबकि सेल्फ फाइनेंस वाले कालेजों की संख्या काफी कम कर दी गई.

18 फरवरी से शुरू होगी बोर्ड की परीक्षा
2020 की यूपी बोर्ड की परीक्षायें 18 फरवरी से शुरु होकर 6 मार्च तक चलेंगी. परीक्षा कार्यक्रम एक जुलाई 2019 को ही यूपी के शिक्षा मंत्री और डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा ने जारी कर दिया था, जिससे छात्र-छात्राओं को परीक्षा कार्यक्रम को लेकर कोई भ्रम न रहे और उन्हें तैयारी करने का पूरा मौका मिल सके. वहीं इस बार की बोर्ड परीक्षा में पिछले साल की तुलना में छात्र-छात्राओं की संख्या लगभग दो लाख कम हुई है. पिछले साल हाई स्कूल और इण्टर में जहां 57 लाख 93 हजार 621 परीक्षार्थी पंजीकृत थे, वहीं इस बार 56 लाख एक हजार 34 परीक्षार्थी ही पंजीकृत है.

यह भी पढ़ें:
कुशीनगर मस्जिद ब्लास्ट केस: हैदराबाद से गिरफ्तार डॉ अशफाक ने सेना से 2 साल पहले ली है रिटायरमेंट
पराली जलाने पर यूपी के मैनपुरी में 20 से ज्यादा किसानों पर FIR, 12 से ज्यादा सरपंचों, पटवारी को नोटिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 12:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...