UP Panchayat Election 2021: बीजेपी कार्यसमिति की बैठक में बड़ा फैसला, चुनाव लड़ा तो छोड़ना होगा पद

बीजेपी कार्यसमिति मे चर्चा के दौरान इस पर सहमति बनी कि पार्टी पदाधिकारी पंचायत चुनाव नहीं लड़ पाएंगे.

UP Gram Panchayat Election 2021: उत्‍तर प्रदेश में बीजेपी कार्यसम‍ित‍ि की बैठक में इस पर सहमति बनी कि पार्टी पदाधिकारी पंचायत चुनाव नहीं लड़ पाएंगे.

  • Share this:
लखनऊ. बीजेपी कार्यसमिति की बैठक सोमवार सुबह 11 बजे दीप प्रज्वलन के साथ शुरू हुई. बैठक की अध्यक्षता बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने की. प्रदेश अध्यक्ष और मुख्य अतिथि के संबोधन के बाद के सत्र को महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने संबोधित किया. कार्यसमिति मे चर्चा के दौरान इस पर सहमति बनी कि पार्टी पदाधिकारी पंचायत चुनाव नहीं लड़ पाएंगे. चुनाव लड़ेंगे तो पद छोड़ना पड़ेगा. वो संगठन के किसी भी पद पर हो. जिलाध्यक्ष, जिला महामंत्री, प्रदेश पदाधिकारी, क्षेत्रीय अध्यक्ष और क्षेत्रीय महामंत्री. इसके साथ ही पार्टी ने 19 मार्च से 26 मार्च तक का कार्यक्रम तय किया, ज‍िसमें भाजपाई योगी सरकार की उपलब्धियां गिनाएंगे. उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच जाएंगे.

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा क‍ि हमारा सौभाग्य है कि कार्यसमिति को राजनाथ सिंह संबोधित करेंगे. यूपी में मिली विराट विजय के बाद संगठन और सुगठित हुआ है. पार्टी पंचनिष्ठा के सिद्धांतों पर चलती है. डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय के बताए रास्ते पर पंडित अटल बिहारी वाजपेयी ने रास्ता बनाया. 2014 मे एक चाय बेचने वाला, गरीब तपस्वी प्रधानमंत्री बना. कांग्रेस ने अंबेडकर जी को भूला दिया था, लेकिन मोदीजी ने पंचतीर्थ बनाए. सरदार पटेल के योगदानों को सहेजा.



उन्‍होंने कहा क‍ि योगी आदित्यनाथ जो कर रहे हैं वो बेमिसाल है. काशी आज नये कलेवर मे है. कोरोना काल मे बेहतरीन काम हुआ. मोदी और योगी सरकार के कामों की प्रशंसा विश्व पटल पर हुई. कोरोना काल मे राष्ट्रीय नेतृत्व ने डिजिटल माध्यम से सेवा ही संगठन का कार्यक्रम चलाया. कार्यकर्ताओं ने जान की परवाह किए बिना काम किया.

स्‍वतंत्र देव स‍िंह ने कहा क‍ि विपक्षी एकता को ढपोलशंखी साबित करते हुए हमनें जीत दर्ज की. प्रदेश में विकास कार्य हो रहे हैं. 2022 तक बुंदेलखंड में घर घर पानी पहुंचेगा. सपा बसपा शासन काल सबने देखा है. सपा काल मे सूची सैफई से आती थी. पहली बार पारदर्शी तरीके से रोजगार दिया गया है. सपा बसपा काल मे भ्रष्टाचार चरम पर था. विश्वविद्यालय के नाम न पर जमीन हड़पने वाले जेल में है. जमीन खिसक गई है, साइकिल चला रहे हैं लेकिन 2022 मे उनके पास बाइसिकल भी नहीं रहेगी. केंद्रीय नेतृत्व की भावनाओं के साथ हम अपनी विचारधारा पर अटल रहकर काम करना है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.