इटावा: ओवर लोडेड खनन वाहनों को पास कराने के आरोप में दो पुलिसकर्मी निलंबित, दरोगा लाइन हाजिर

इटावा में ओवरलोड खनन वाहनों को पास कराने पर दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है.

इटावा में ओवरलोड खनन वाहनों को पास कराने पर दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है.

इटावा (Etawah) में दो हेड कांस्टेबलों को खनन से जुड़े हुए ओवरलोड वाहनों को पास कराने के मामले में निलंबित (Suspended) कर दिया गया है. वहीं वरिष्ठ उप निरीक्षक को लाइन हाजिर किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 4:25 PM IST
  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा जिले के बढ़पुरा इलाके की उदी चौकी पर तैनात दो हेड कांस्टेबलों को खनन से जुड़े हुए ओवरलोड वाहनों को पास कराने के मामले में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. जबकि वरिष्ठ उप निरीक्षक को लाइन हाजिर किया गया है. इटावा (Etawah) के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. बृजेश कुमार सिंह ने यह जानकारी दी है.

उन्होंने बताया कि सिर्फ इतना ही नहीं खनन से जुड़े हुए ओवरलोड वाहनों को पास कराने में लगे प्राइवेट व्यक्तियों के खिलाफ भी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी, क्योंकि इन्हीं प्राइवेट व्यक्तियों के जरिए ओवरलोड वाहनों को पास करने की प्रक्रिया अपनाई जा रही है. उन्होंने बताया कि बढ़पुरा क्षेत्र की चौकी उदी पर संबद्धता के दौरान मुख्य आरक्षी राहुल सिंह एवं मुख्य आरक्षी रणजीत कुमार द्वारा ओवरलोड गाड़ियों को पास कराने में संलिप्त पाए जाने पर निलंबित कर दिया गया. वहीं वरिष्ठ उपनिरीक्षक थाना बढ़पुरा बृजेश कुमार को कार्य पर्यवेक्षण में शिथिलता बरतने के कारण तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर किया गया है.

उत्तर प्रदेश बीजेपी ने जारी की कोविड हेल्पलाइन, कोई भी कर सकता है संपर्क

यह पहला मौका नहीं है जब उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की सीमा पर स्थापित उदी चेकपोस्ट से खनन से जुड़े हुए वाहनों को पास कराने के एवज में पुलिसकर्मियों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई अमल में लाई गई है. इस चेक पोस्ट को यहाॅ पर तैनात किये जाने वाले अफसर सोने का अंडा देने वाली मुर्गी समझते हैं. तभी तो आये दिन इस तरह की निंबलन की कार्यवाहियों को किया जाता है. यह कार्रवाहियां तब हो रही हैं जब चंबल चेक पोस्ट पर हाईटेक चेकगेट बना दिया गया है. यहां से कोई भी वाहन बिना पड़ताल के पास नहीं हो सकता है. तीन साल इटावा में तैनात रहे एसएसपी वैभव कृष्ण ने इटावा में खनन माफियाओं के खिलाफ अभियान शुरू करके भ्रष्टाचार अधिनियम में मुकदमें दर्ज कराना शुरू किया था.
साल 2017 को 29 दिसंबर को एसएसपी वैभव कृष्ण की अगुवाई मे पुलिस अमले की ओर से की गई  कार्रवाई में 275 ऐसे वाहनों को सीज किया गया था जो कहीं ना कहीं खनन से जुडे हुए थे. इनसे करीब सवा करोड रुपये का राजस्व वसूल किया गया था. इस कार्रवाई को खनन माफियाओं के खिलाफ देश के किसी हिस्से में हुई अब तक की सबसे बडी कार्यवाही माना गया था.

इससे पहले खनन माफियााओं की मदद करने के आरोप मे एसएसपी वैभव कृष्ण ने सहसो थाने में तैनात सिपाही संजीव ढाका, भरथना थाने में तैनात सिपाही लक्ष्मीकांत और सैफई थाने में तैनात सिपाही सोभित कुमार को लंबी जांच प्रकिया के बाद बर्खास्त किया. बेहद गोपनीय ढंग से की गई इस कार्रवाई में सहसों और बढ़पुरा थाना प्रभारियों के अलावा उदी ओर हनुमंतपूरा चौकी इंचार्ज बढ़पुरा थाना प्रभारी दिनेश सिंह, उदी चैकी इंजार्ज शशांक दुबे, सहसो थाना प्रभारी मनोज परमार, हनुमंतपुरा चैकी प्रभारी संजय सिंह निलंबित किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज