वाराणसी: सेना भर्ती के नाम से युवक से ठगे 28 लाख रुपये, फर्जी ज्वाइनिंग लेटर भी दिया, सरगना गिरफ्तार

वाराणसी में गिरफ्तार आर्मी में भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले लल्लन यादव
वाराणसी में गिरफ्तार आर्मी में भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले लल्लन यादव

एसपी सिटी विकास चन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि सेना में भर्ती के नाम ठगी करने वाला लल्लन बाकायदा एक गैंग चलाता था. इस गैंग में सभी ठगों की अलग-अलग जिम्मेदारी थी. इनके तार बनारस (Varanasi) से लेकर बिहार तक फैले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2020, 8:16 PM IST
  • Share this:
वाराणसी. ठगों के निशाने पर अब सेना भर्ती (Indian Army Recruitment) भी आ गयी है. बाकायदा गैंग बनाकर सेना भर्ती के नाम से लाखो की ठगी की जा रही है. ताजा मामला वाराणसी (Varanasi) का है. यहां गैंग के सरगना को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इनसे पूछताछ में जो जानकारी आई है वो काफी चौंकाने वाली है. पता चला है कि इस गैग के तार बिहार तक फैले हैं और ये एक अब तक कई युवाओं को अपना शिकार बना चुका है.

बिहार के शख्स ने लिखाई एफआईआर तो हुआ खुलासा

गिरफ्तार सरगना लल्लन यादव है, जो वाराणसी के ही पहड़िया क्षेत्र का रहने वाला है. लल्लन के शातिर दिमाग का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जिस सेना में भर्ती के नाम से ये लाखो रुपये ठगी करता है, उसका ये बाकायदा फर्जी नियुक्ति पत्र भी देता है. पुलिस को इसके बारे में तब पता चला जब बिहार के रहने वाले एक व्यक्ति ने इसकी शिकायत वाराणसी पुलिस से की. पुलिस ने इसके बारे में पूछताछ की तो इसके निवास का पता चला और पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया.



गैंग के कई हैं मेंबर: एसपी सिटी
एसपी सिटी विकास चन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि सेना में भर्ती के नाम ठगी करने वाला लल्लन बाकायदा एक गैंग चलाता था. इस गैंग में सभी ठगों की अलग-अलग जिम्मेदारी थी. इनके तार बनारस से लेकर बिहार तक फैले हैं. मामले में खुलासा उस वक्त हुआ, जब बिहार निवासी दीपक ने वाराणासी के सिगरा थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई.



नियुक्ति के नाम पर ऐंठे 28 लाख रुपये

लल्लन ने उससे नियुक्ति के नाम से 28 लाख रुपये ऐंठ लिए थे और इसे सेना भर्ती की फर्जी नियुक्ति पद भी दे दिया था. लेकिन जब फर्जीवाड़े का का उसे पता चला तो उसने वाराणसी पुलिस से संपर्क साधा. लल्लन के गैंग में और कितने ठग है? पुलिस अब उनका पता लगाने में जुटी है. बहरहाल सरगना के पकड़े जाने से इस बड़ी जालसाजी से पर्दा उठा, जिससे पुलिस के साथ ही उन बेरोजगारों को भी काफी राहत मिली है जो रोजगार के तलाश में ऐसे ठगों के शिकार बन जाते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज