Home /News /uttar-pradesh /

Varanasi News: काशी विश्वनाथ धाम से 58 मन्दिरों को मिल रही संजीवनी,लोकार्पण के बाद भक्त कर सकेंगे दर्शन

Varanasi News: काशी विश्वनाथ धाम से 58 मन्दिरों को मिल रही संजीवनी,लोकार्पण के बाद भक्त कर सकेंगे दर्शन

काशी

काशी विश्वनाथ धाम से 58 मंदिरों को मिल रही संजीवनी

वाराणसी में तैयार हो रहे बाबा विश्वनाथ के अनूठे धाम से 58 मंदिरों को संजीवनी मिल रही है.कॉरिडोर निर्माण के दौरान इलाके के भवनों के बीच ये मंदिरे छुपे थे जो निर्माण के दौरान लोगो के सामने आए. इन ऐतिहासिक मंदिरों में कई मंदिर ऐसे है जिनका इतिहास काशी विश्वनाथ मंदिर से भी पुराना है. इन 58 मंदिरों में से 27 ऐसे मंदिर है जिनका उल्लेख काशी खण्ड में भी है

अधिक पढ़ें ...

    वाराणसी (Varanasi) में तैयार हो रहे बाबा विश्वनाथ (Baba Vishwanath) के अनूठे धाम से 58 मंदिरों को संजीवनी मिल रही है.कॉरिडोर निर्माण के दौरान इलाके के भवनों के बीच ये मंदिरे छुपे थे जो निर्माण के दौरान लोगो के सामने आए. इन ऐतिहासिक मंदिरों में कई मंदिर ऐसे है जिनका इतिहास काशी विश्वनाथ मंदिर से भी पुराना है. इन 58 मंदिरों में से 27 ऐसे मंदिर है जिनका उल्लेख काशी खण्ड में है.जिसे आने वाले समय में पूरी दुनिया देखेगी.एक्सपर्ट की राय के बाद मंदिर प्रशासन इन पौराणिक मंदिरों को संजीवनी दे रहा है.इनमे से कई मंदिरों के पुनःनिर्माण का कार्य तेजी से चल रहा है.मन्दिरों के निर्माण कार्य के अलावा इनके पौराणिक और धार्मिक महत्व के बारे में भी साक्ष्य जुटाए जा रहे है. काशी विद्वत परिषद की देख-रेख में ये काम तेजी से हो रहा है.

    बाबा विश्वनाथ के अलावा अन्य मंदिरों में भक्त कर सकेंगे दर्शन

    13 दिसम्बर को पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) जब काशी विश्वनाथ धाम की सौगात देंगे तो यहां आने वाले श्रद्धालु इन मंदिरों में भी दर्शन पूजन कर सकेंगे.काशी विद्वत परिषद के महामंत्री प्रोफेसर राम नारायण द्विवेदी ने बताया कि काशी विश्वनाथ धाम में भक्तों को मंदिरो की मणि के दर्शन होंगे.बाबा विश्वनाथ के अलावा कॉरिडोर क्षेत्र में स्थित और भी मंदिरो में भक्त दर्शन पूजन कर सकेंगे.

    रिपोर्ट- अभिषेक जायसवाल-वाराणसी

    Tags: Varanasi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर