वाराणसी में ब्लैक फंगस का कहर, 24 घंटे में 8 लोगों की मौत, 30 की निकालनी पड़ी आंख

वाराणसी में ब्लैक फंगस से 24 घंटों में 8 लोगों की मौत (File photo)

वाराणसी में ब्लैक फंगस से 24 घंटों में 8 लोगों की मौत (File photo)

बीएचयू (BHU) सर सुंदर लाल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक (CMS) डॉ. केके गुप्ता ने बताया कि हॉस्पिटल में मरीजों को पूरी सुविधा दी जा रही है. उनके इलाज के लिए पर्याप्त स्थान और बेड मौजूद हैं.

  • Share this:

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ब्लैक फंगस (Black Fungus) का कहर जारी है. पिछले 24 घंटे में इस फंगस ने 8 लोगों की मौत हो चुकी है. अब तक के आकड़ों की बात करें ब्लैक फंगस के कारण 32 मरीजों की जान जा चुकी है. सबसे डरावनी बात यह है कि इस बीमारी के कारण 30 लोगों का ऑपरेशन कर आंखें निकालनी पड़ी हैं. मरीजों का आंकड़ा 145 जा पहुंचा है. बीते गुरुवार को 7 नए मरीज भी बीएचयू के ब्लैक फंगस वार्ड में भर्ती कराए गए हैं.

बीएचयू के सर सुंदर लाल अस्पताल में दो वार्ड बनाये गए हैं, जिनमें कुल 80 बेड हैं जो फुल हो चुके हैं. बढ़ते मरीजों के इलाज के लिए नए वार्ड बनाए गए हैं, जिनमें बेड की संख्या 70 रखी गयी है. बीएचयू के सर सुंदर लाल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केके गुप्ता ने बताया कि हॉस्पिटल में मरीजों को पूरी सुविधा दी जा रही है. उनके इलाज के लिए पर्याप्त स्थान और बेड मौजूद हैं.

सावधानी ही उपचार

डॉ. केके गुप्‍ता ने बताया कि चूंकि हमने म्यूकरमाइकोसिस के बारे में पिछले कुछ हफ्तों में ही जाना है तो हमें संक्रमण रोकने के सारे उपाय करने चाहिए. मास्क पहनना बहुत जरूरी है. खास तौर पर जब हम धूल भरे इलाके में जाएं. ऐसा उनके लिए बहुत ही जरूरी है जो कोविड-19 की मध्यम से गंभीर बीमारी से हाल ही में ऊबरे हैं या जिनमें ऊपर बताए लक्षण दिख रहे हैं. जूते पहने, लंबे और पूरे पैंट पहनें, लंबी बांह की शर्ट पहनें और गार्डनिंग करते समय ग्लब्स जरूर पहनें. ब्लड शुगर लेवल कायम रखें और उसकी नियमित जांच कराएं. यह भी जरूरी है कि ज्यादा जोखिम वाले लोगों को चेतावनी संकेतों और लक्षणों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज