चंदौलीः शुरू हुई मुगलसराय को दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन में बदलने की प्रक्रिया

दिल्ली- हावड़ा रेल रूट के सर्वाधिक व्यस्ततम रेलवे स्टेशनों में शुमार मुगलसराय जंक्शन से रोजाना लाखों की तादात में यात्री सफ़र शुरू और ख़त्म करते हैं और यहां से होकर करीब 2500 ट्रेने रोजाना गुजरती हैं.

  • Share this:
चंदौली जिले के मुगलसराय जंक्शन के नाम बदलने को लेकर रेल मंत्रालय द्वारा अनुमोदन करने बाद अब नाम परिवर्तन की प्रक्रिया में तेजी आ गई है. मुगलसराय डिवीजनल ऑफिस ने रेलवे से अनुमोदन पत्र मिलने के बाद से ही तैयारियां शुरू कर दी हैं. इसी कड़ी में रविवार को मुगलसराय जंक्शन के प्लेटफॉर्म और शेड पर लिखे पुराने नाम को मिटाने का काम भी शुरू कर दिया गया है.



यह भी पढ़ें-केंद्र ने मुगलसराय स्टेशन का नाम दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखने को मंजूरी दी



मुगलसराय में तैनात रेल अधिकारियों की मानें तो बहुत जल्द मुगलसराय जंक्शन पर नया नाम पं. दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन लिख दिया जाएगा. हालांकि भारतीय राजनीति में नाम बदलने का बड़ा ही महत्त्व रहा है और मुगलसराय का नाम बदलना भी इसी राजनीति का एक हिस्सा भर है.





हालांकि मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलने की प्रक्रिया तकरीबन साल भर पहले उस वक्त शुरू हुई थी जब सूबे में भी भाजपा की सरकार बनी थी, जिसके लिए चंदौली से सांसद व यूपी बीजेपी अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय ने शुरूआत की थी और जल्द ही मुगलसराय जंक्शन एक नए पहचान के साथ यात्रियों के सामने नमूदार होगा.
यह भी पढ़ें-मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलने के खिलाफ कांग्रेस, कहा- हिटलरशाही पर उतरी भाजपा



उल्लेखनीय है दिल्ली- हावड़ा रेल रूट के सर्वाधिक व्यस्ततम रेलवे स्टेशनों में शुमार मुगलसराय जंक्शन से रोजाना लाखों की तादात में यात्री सफ़र शुरू और ख़त्म करते हैं और यहां से होकर करीब 2500 ट्रेने रोजाना गुजरती हैं.



(रिपोर्ट-नितिन, चंदौली)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज