किसान-निषाद और सॉफ्ट हिंदुत्व के बाद 2022 के विधानसभा चुनावों के ल‍िए क्‍या है प्र‍ियंका गांधी का अगला प्‍लान? जानें


उत्‍तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनावों में सूबे की सत्ताधारी योगी सरकार को चुनौती देने के लिये कांग्रेस इन दिनों अपने स्तर से हर संभव प्रयास कर रही है.

उत्‍तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनावों में सूबे की सत्ताधारी योगी सरकार को चुनौती देने के लिये कांग्रेस इन दिनों अपने स्तर से हर संभव प्रयास कर रही है.

Uttar Pradesh assembly elections: कांग्रेस महासच‍िव प्र‍ियंका गांधी किसान बिरादारी से जुडे़ हिंदु-मुस्‍ल‍िम, सिक्ख, जाट-गुर्जर और निषादों से मुलाकात के बाद अब दलितों को भी साधने की कवायद मे जुट गई हैं.

  • Share this:
उत्‍तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनावों में सूबे की सत्ताधारी योगी सरकार को चुनौती देने के लिये कांग्रेस इन दिनों अपने स्तर से हर संभव प्रयास कर रही है. उत्तर-प्रदेश में एक लंबे समय से हाश‍िए पर चल रही कांग्रेस अपने संगठन में जान फूंकने के लिए जहां नए सिरे से अब हर ब्लॉक और न्याय पंचायतों में अपने संगठन को खड़ा कर रही है. तो वही केन्द्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की नाराजगी को देखते हुए कांग्रेस खुद भी कृषि कानूनों को खुला विरोध और किसानों का खुला समर्थन कर न सिर्फ पश्चिमी यूपी में ताबड़तोड़ किसान पंचायतें कर रही है.

इतना ही नहीं अब उत्‍तर प्रदेश के सियासी समीकरणों को भी ध्यान मे रखते हुए कांग्रेस के साफ्ट हिंदुत्व के एजेंडे के तहत ही प्रियंका गांधी सहारनपुर में शाकुभंरी देवी और संगम में स्नान के साथ वृदांवन में बांके बिहारी जैसे मठ-मंदिरो में दर्शन करते नजर आ रही है. साथ ही किसान बिरादारी से जुडे़ हिंदु-मुस्‍ल‍िम, सिक्ख, जाट-गुर्जर और निषादों से मुलाकात के बाद अब दलितों को भी साधने की कवायद मे जुट गई हैंं.

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी आगामी 27 फरवरी को रविदास जयंती के मौके पर सुबह 11 बजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंच रही है. प्रियंका गांधी रविदास जयंती के मौके पर वाराणसी स्थित गंगा किनारे उनके जन्मस्थान घासी टोला में बने संत शिरोमणि गुरू रविदास मंदिर जाएगी.

जहां इस मौके पर लगने वाले मेले में शिरकत कर प्रियंका गांधी न सिर्फ संत रविदास के मंदिर में उनका दर्शन करेंगी. बल्कि इस मौके पर पहुचने वाले देश भर के दलित संतो से मुलाकात करके उनके साथ प्रसाद भी ग्रहण करेंगी. हालांकि ये कोई पहला मौका नही होगा कि जब प्रियंका गांधी रविदास मंदिर पहुचेंगी. इससे पहले भी प्रियंका गांधी वाराणसी स्थित इस रविदास मंदिर में जा चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज