Varanasi: गंगा की लहरों पर 190 दिन बाद फिर शुरू हुई अलकनंदा क्रूज, खिले उठे पर्यटकों के चेहरे 

गंगा की लहरों पर 190 दिन बार फिर शुरू हुई अलकनंदा क्रूज
गंगा की लहरों पर 190 दिन बार फिर शुरू हुई अलकनंदा क्रूज

वाराणसी में गंगा नदी (Ganga River) में क्रूज संचालन (Alaknanda Cruise) से जुड़े रजत ने बताया कि क्रूज में सफर करने वाले सभी पर्यटकों (Tourist) को मास्क लगाना अनिवार्य है.

  • Share this:
वाराणसी. मोक्षनगरी काशी (Kashi) में गंगा की लहरों पर रविवार से दोबारा अलकनंदा क्रूज (Alaknanda Cruise) का संचालन शुरू हो गया. 190 दिन के लंबे इंतजार के बाद अब पर्यटक इस हाईटेक क्रूज से गंगा की लहरों से घाटों का दीदार किया. क्रूज का संचालन एक बार फिर से शुरू होने का इंतजार सिर्फ पर्यटकों को ही नहीं, बल्कि क्रूज संचालकों को भी था. ये क्रूज पिछले 190 दिनों से बंद था. क्योंकि कोरोना महामारी (COVID-19) को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन था. लेकिन Unlock-4 में स्थानीय और आसपास के शहरों के लोगों की मांग पर इसे फिर शुरू किया गया. जिसके बाद पहले दिन ही इस क्रूज में सैर करके पर्यटकों के चेहरे खिल उठे.

बता दें कि रविदास घाट से पर्यटक इस क्रूज में सवार होंगे और दो घण्टे के सफर के बाद वापस उन्हें यहीं छोड़ा जाएगा. शुरुआती दौर में दिन में सिर्फ एक बार ही इस क्रूज से पर्यटक घाटों का टूर कर सकेंगे. पर्यटकों की संख्या में इजाफे के बाद पहले की तरह दिन में दो बार इसका संचालन होगा.

ये भी पढ़ें- रामपुरः जानवर को निगल कर सड़क पर निढाल पड़ा अजगर, देखिए Video



वैश्विक महामारी कोरोना के कारण पर्यटकों को शर्तों के साथ क्रूज में सफर की अनुमति है. क्रूज संचालन से जुड़े रजत ने बताया कि क्रूज में सफर करने वाले सभी पर्यटकों को मास्क लगाना अनिवार्य है. क्रूज में एंट्री से पहले पर्यटकों को सैनेटाइज कराया जाएगा. पर्यटकों के अलावा क्रूज के मेम्बर्स के लिए भी मास्क और ग्लब्स को अनिवार्य किया गया है.
आधुनिक सुविधाओं से है लैस
अलकनंदा क्रूज में पर्यटकों के लिए हाईटेक सुविधाओं से लैस है. पूरी तरह से एयरकंडीशंड होने के अलावा पर्यटकों के बैठने के लिए आरामदायक सीट और बॉयो टॉयलेट की सुविधा भी इस क्रूज में उपलब्ध है. इसके साथ ही इस हाईटेक क्रूज में पर्यटकों के लिए रूफ टॉप रेस्तरां भी है जहां बैठकर पर्यटक मनपसंद लंच कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज