• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Delhi-Varanasi Bullet Train: दिल्‍ली से बुलेट ट्रेन से बस कुछ घंटों में पहुंचेंगे अयोध्या और काशी, जानें कहां-कहां होंगे स्‍टॉपेज

Delhi-Varanasi Bullet Train: दिल्‍ली से बुलेट ट्रेन से बस कुछ घंटों में पहुंचेंगे अयोध्या और काशी, जानें कहां-कहां होंगे स्‍टॉपेज

बुलेट ट्रेन से दिल्‍ली से वाराणसी तक करीब चार घंटे में पहुंचा जा सकेगा.

बुलेट ट्रेन से दिल्‍ली से वाराणसी तक करीब चार घंटे में पहुंचा जा सकेगा.

Delhi-Varanasi Bullet Train: रामलला की नगर अयोध्‍या (Ayodhya) और बाबा विश्‍वनाथ की नगरी काशी (Kashi) तक पहुंचने का सफर अब बेहद आसान और तेज होने वाला है. दरअसल दिल्ली के सराय काले खां से पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बीच चलने वाली बुलेट ट्रेन का अयोध्‍या में भी एक स्‍टॉपेज होगा. वहीं, बुलेट ट्रेन दिल्ली से वाराणसी के बीच 816 किलोमीटर का सफर करीब चार घंटे में तय करेगी.

  • Share this:

    नई दिल्‍ली/ वाराणसी/अयोध्‍या. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का ड्रीम प्रोजेक्‍ट मानी जानी वाली बुलेट ट्रेन परियोजना एक और कदम आगे बढ़ गई है. दरअसल देश में बुलेट ट्रेन चलाने वाली संस्था नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NHSRCL) ने उम्मीद जताई है कि अगले महीने यानी सितंबर में दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर की फाइनल डीपीआर (डीटेल प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट) तैयार हो जाएगी. इसके साथ दिल्ली के सराय काले खां से पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बीच चलने वाली बुलेट ट्रेन (Delhi-Varanasi Bullet Train) की डीपीआर को पेश कर दिया जाएगा. वहीं, यह पूरी योजना एलिवेटेड ट्रैक पर होगी.

    बहरहाल, यमुना एक्‍सप्रेसवे पर बनने वाले जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jewar International Airport) को देखते हुए दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर की रूपरेखा तैयार की जा रही है. जबकि यूपी के नोएडा में बुलेट ट्रेन के दो स्‍टेशन होंगे. पहला स्‍टेशन नोएडा सेक्‍टर 144 , तो दूसरा स्‍टेशन जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा. यह बुलेट ट्रेन दिल्ली के सराय काले खां से जेवर एयरपोर्ट तक की 62 किलोमीटर की दूरी 21 मिनट में तय करेगी.

    दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर के ये होंगे 12 स्‍टॉपेज
    बुलेट ट्रेन के स्टेशन नोएडा सेक्‍टर 144 और जेवर के अलावा मथुरा, आगरा, इटावा, कन्‍नौज, लखनऊ, अयोध्‍या, रायबरेली, प्रयागराज, भदोही और वाराणसी में होंगे. पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के मंडुआडीह में ट्रेन का अंतिम स्टॉपेज होगा. यही नहीं, यह बुलेट ट्रेन एलिवेटेड ट्रैक पर चलेगी, जिसकी ऊंचाई करीब 10 मीटर होगी. इसके अलावा बुलेट ट्रेन के पहला चरण काम दिल्ली से आगरा तक, दूसरा चरण का आगरा से लखनऊ तक, तीसरा चरण का लखनऊ से प्रयागराज तक और अंतिम चरण का काम प्रयागराज से वाराणसी तक होगा.

    बता दें कि नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड ने दिल्ली-वाराणसी बुलेट ट्रेन कॉरिडोर की अंतरिम डीपीआर पिछले साल 29 अक्टूबर को पेश की थी. इसके बाद जनवरी 2021 से इस कॉरिडोर की फाइनल डीपीआर पर काम शुरू हुआ, जिसके इसी सितंबर तक पूरा होने की उम्मीद है. इस डीपीआर रिपोर्ट में इलाके की जनसंख्या, बुलेट ट्रेन के लिए ट्रैफिक और फूट-फॉल आदि का जिक्र किया जाएगा.

    अयोध्‍या और काशी को खास फायदा
    दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर से रामलला की नगरी अयोध्या के साथ बाबा विश्‍वनाथ की नगरी काशी को खास फायदा होगा. बुलेट ट्रेन से इन दोनों धार्मिक शहरों में श्रद्धालु आसानी और कुछ ही घंटों में पहुंच सकेंगे.

    दिल्ली से वाराणसी पहुंचेंगे सिर्फ 3 घंटे 41 मिनट
    यह बुलेट ट्रेन दिल्ली के सराय काले खां से जेवर एयरपोर्ट तक की 62 किलोमीटर की दूरी 21 मिनट में तय करेगी. जेवर एयरपोर्ट से राया कट (मथुरा) तक 20 मिनट में पहुंचेगी. जबकि दिल्ली से आगरा 55 मिनट, तो लखनऊ तक 2 घंटे 50 मिनट लगेंगे. वहीं, दिल्ली से वाराणसी तक 816 किलोमीटर का सफर तय करने में 3 घंटे 41 मिनट का समय लगेगा. इसके अलावा इस बुलेट ट्रेन में 800 पैसेंजर एक साथ सफर कर सकते हैं. जबकि इसकी क्षमता बढ़ाकर 1250 यात्रियों की जा सकती है.

    यहां भी है बुलेट ट्रेन योजना
    >> वाराणसी-हावड़ा (करीब 760 किलोमीटर)
    >> मुंबई-हैदराबाद (करीब 711 किलोमीटर)
    >> मुंबई-नागपुर (करीब 753 किलोमीटर)
    >> चेन्नई-मैसूर (करीब 435 किलोमीटर)
    >> दिल्ली-अहमदाबाद (करीब 866 किलोमीटर)
    >> दिल्ली-अमृतसर (करीब 459 किलोमीटर)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज