Surya Grahan: काशी में बाबा विश्वनाथ समेत सभी मंदिर रहेंगे बंद, वृश्चिक राशि वाले सावधान!
Varanasi News in Hindi

Surya Grahan: काशी में बाबा विश्वनाथ समेत सभी मंदिर रहेंगे बंद, वृश्चिक राशि वाले सावधान!
काशी में बाबा विश्वनाथ समेत सभी मंदिर रहेंगे बंद (file photo)

  • Share this:
वाराणसी. इस साल का पहला सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) 21 जून यानि कि रविवार को लगने वाला है. इसी क्रम में धर्मनगरी वाराणसी (Varanasi) में रविवार को सूर्य ग्रहण में ग्रहण काल के दौरान बाबा विश्वनाथ, मां अन्नपूर्णा और संकटमोचन समेत सभी मंदिर बंद रहेंगे. वहीं बीएचयू के धर्म विज्ञान संकाय के प्रोफेसर और काशी विद्धत परिषद के महामंत्री डा रामनारायण द्विवेदी ने बताया कि व्यक्तिगत रूप से ये ग्रहण कई राशियों पर अलग-अलग प्रभाव डालेगा. वहीं देश की बात की जाए तो अन्य देशों के साथ संबंधा में हलचल सुनाई देगी. शिव की नगरी काशी में भी सूर्य ग्रहण का पूरा असर देखने को मिलेगा.

सूर्य ग्रहण रविवार को करीब 10:30 बजे से दोपहर 2:04 मिनट तक रहेगा. इसको श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के कपाट भी ग्रहण के दौरान बंद रहेंगे. मंदिर के कपाट करीब 9 बजे से दोपहर में 2:04 मिनट तक बंद रहेंगे. इस दौरान मध्याहन भोग आरती ग्रहण के बाद की जाएगी. ग्रहण के बाद बाबा को केवल फलाहार का भोग लगेगा. भोग और आरती के बाद बाबा के कपाट खोल दिए जाएंगे. वहीं मां अन्नपूर्णा के कपाट भी सुबह से ग्रहण काल तक बंद कर दिए जाएंगे.

बीएचयू के धर्म विज्ञान संकाय के प्रोफेसर डा रामनारायण द्विवेदी
बीएचयू के धर्म विज्ञान संकाय के प्रोफेसर डा रामनारायण द्विवेदी




उधर, संकट मोचन मंदिर के कपाट सूतक काल यानी ग्रहण शुरू होने से पहले बंद कर दिए जाएंगे. सूतक काल शनिवार रात करीब साढ़े दस बजे से लगेगा. मंदिर के कपाट ग्रहण के बाद ही खुलेंगे. इस दौरान ये पहला मौका होगा, जब ग्रहण के बाद लोग घाट पर जाकर गंगा स्नान नहीं कर सकेंगे. कोरोना संक्रमण के कारण फिलहाल गंगा स्नान पर पाबंदी है, जो सूर्य ग्रहण वाले दिन भी बरकरार रहेगी. आमतौर पर ग्रहण के बाद लोग गंगा स्नान करते हैं. इस बार का सूर्यग्रहण बहुत एहतिहासिक है.
ये भी पढ़ें- कानपुर में ट्रैफिक पुलिस का कारनामा, घर पर खड़ी कार मालिक को भेज दिया हेलमेट का चालान

काशी विद्धत परिषद के महामंत्री और बीएचयू के धर्म विज्ञान संकाय के प्रोफेसर डा रामनारायण द्विवेदी के अनुसार साल 2001 में 21 जून को रविवार के दिन ही सूर्य ग्रहण पड़ा था. इस सूर्य ग्रहण का असर 5 जुलाई को होने वाले चंद्र ग्रहण तक रहेगा. राजनीतिक उथल पुतल होगी. अन्य देशों के साथ संबंधों में हलचल सुनाई देगी. 15 से 20 मिनट तक आधी धरती पर काली छाया दिखाई देगी. बुध, गुरु, शुक्र, शनि, राहु और केतु वक्री रहेंगे.

ये भी पढे़ं- मेरठ: कोरोना काल में चर्चा का केंद्र बना रोबोट, मिनटों में निपटा रहा ये काम

द्विवेदी के मुताबिक मंगल मिथुन राशि पर दृष्टि डाल रहा है. व्यक्तिगत रूप से मेष, सिंह, कन्या और मकर राशि पर ग्रहण का शुभ फल है. वृष, मिथुन, तुला, धनु और कुंभ राशि पर ग्रहण का मध्य फल रहेगा. वृश्चिक और मीन राशि के जातकों को सावधान रहने की जरूरत है. जिसमे वृश्चिक राशि के जातक सूर्य ग्रहण के दिन घर से न निकलें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading