दुबई के बाद अब बनारसी लंगड़ा आम चला लंदन, डेढ़ मीट्रिक टन की पहली खेप रवाना
Varanasi News in Hindi

दुबई के बाद अब बनारसी लंगड़ा आम चला लंदन, डेढ़ मीट्रिक टन की पहली खेप रवाना
कमिश्नर ने बताया कि वाराणसी का लंगड़ा और दशहरी आम विश्व प्रसिद्ध है. इसकी विदेशों में बराबर मांग होती रहती है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) का सांसद आदर्श गांव जयापुर (Jayapur Village) आम का बड़ा निर्यातक बन गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 16, 2020, 10:59 AM IST
  • Share this:
वाराणसी. दुबई के बाद अब लंदन (London) के लोग भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के सांसद आदर्श गांव जयापुर के बनारसी लंगड़ा आम (Banarasi Langra Mango) का स्वाद चख सकेंगे. रविवार यानि जून 14 का दिन काशी (Kashi) के लोगों विशेषकर वहां के किसानों के लिए गर्व का रहा. वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने राजा तालाब स्थित पेरिशबल कार्गो सेंटर से बनारसी लंगड़ा आम के डेढ़ मीट्रिक टन की पहली खेप को हरी झंडी दिखाकर लंदन के लिए रवाना किया. इसके साथ ही 12 मीट्रिक टन बनारसी लंगड़ा एवं चौसा आम के खेप को बेंगलुरू (Bengaluru) के सुपरमार्केट के लिए भी रवाना किया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र का सांसद आदर्श गांव जयापुर (Jayapur Village) आम का बड़ा निर्यातक बन गया है.

इस खेप में लंगड़ा, रामखेड़ा, दशहरी किस्म भी शामिल

वाराणसी के किसानों का मानना है कि अब दूर लंदन में बैठे लोग न सिर्फ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सांसद आदर्श गांव जयापुर का बनारसी लंगड़ा का स्वाद चख सकेंगे बल्कि फलों के राजा के रूप में मशहूर बनारसी लंगड़ा आम वहां के बाजारों की रौनक भी बढ़ा देगा. गौरतलब है कि 28 मई, 2020 को पहली बार 3 मीट्रिक टन लंगड़ा और दशहरी आम की एक खेप दुबई भेजा गया था और अब वाराणसी से 1.2 मीट्रिक टन आम की एक खेप लंदन भेजा गया है. इस खेप में लंगड़ा, रामखेड़ा, दशहरी किस्म भी शामिल है.



पैकेजिंग की समस्या का भी निकला हल
हालांकि इसकी पैकैजिंग लखनऊ में कर के दिल्ली के रास्ते लंदन पहुंचाया जा रहा है लेकिन राज्य सरकार ने राजातालाब स्थित पेरिशबल कार्गो सेंटर में ही एक महीने के अंदर पैकेजिंग के लिए पैक हाउस स्थापित कराये जाने का निर्देश दिया. पैकेजिंग की व्यवस्था हो जाने पर यहां से दुनिया के अन्य देशो को भेजे जाने वाले फल एवं सब्जियों का पैकेजिंग कराने के लिए लखनऊ नहीं भेजना पड़ेगा और कार्गो सेंटर राजातालाब में ही पैकेजिंग होकर लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा से ही सीधे विदेशों तक भेजा जा सकेगा.

देश के अन्य बाजारों में मांग बढ़ी

खास बात ये है कि बनारसी आम का विदेशों में निर्यात होने से देश के अन्य बाजारो में भी इसकी मांग बढ़ी है. गत दिनों दिल्ली के बाजारों में बनारस का आम भेजा गया था. अब लंदन के साथ-साथ बेंगलुरू के बाजारों में भी बनारसी आम भेजा गया है. बनारसी आम अंतरराष्ट्रीय मार्केट के निर्धारित पैमाने पर खरा उतर गया तो वो दिन दूर नहीं जब बनारसी आम दुनिया में धूम मचा देगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथन की किसानों का आमदनी दोगुना करने कि दिशा में बनारसी आम का विदेशों में निर्यात करना मील का पत्थर साबित होगा.

ये भी पढ़ें:

लखनऊ: वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन, हालत नाजुक

UP: मॉनसून ने दी दस्तक, 3 से 4 दिन में लखनऊ में भी होगी झमाझम बारिश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading