होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Basant Panchami: बसंत पंचमी पर करें यह 5 काम, चमक जाएगी आपकी किस्मत

Basant Panchami: बसंत पंचमी पर करें यह 5 काम, चमक जाएगी आपकी किस्मत

Basant Panchami: स्वामी कन्हैया महाराज ने बताया कि बसंत पंचमी के दिन ही भगवान शंकर और मां पार्वती का तिलकोत्सव का होता ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- अभिषेक जायसवाल

वाराणसी : बसंत पंचमी (Basant panchami) का दिन कई मायनों में खास होता है. इस दिन विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा-अराधना का विशेष फल मिलता है. इसके साथ ही शादी विवाह, मुंडन और गृह प्रवेश के साथ ही अन्य शुभ कार्यों के लिए भी ये दिन विशेष फलदायी होता है.

ऐसे में इस दिन महज चंद महा उपायों के जरिए आप मां सरस्वती का आशीर्वाद प्राप्त करने के साथ- साथ अपनी किस्मत को चमका सकतें हैं. आइये जानते हैं काशी के प्रख्यात ज्योतिषाचार्य स्वामी कन्हैया महाराज से उन महाउपायों को जिससे आप सौभाग्य की प्राप्ति कर सकतें हैं.

आपके शहर से (वाराणसी)

वाराणसी
वाराणसी

बसंतपंचमी से शुरू होती हैं बाबा भोले और मां पार्वती के विवाह की रस्में

स्वामी कन्हैया महाराज ने बताया कि, बसंत पंचमी के दिन ही भगवान शंकर और मां पार्वती का तिलकोत्सव का होता है. काशी में बाबा विश्वनाथ के विवाह की रस्में भी इस दिन से शुरू होती हैं. ऐसे में इस दिन शादी विवाह से जुड़ी सामग्री का खरीदना और उसे भगवान शंकर और माता पार्वती को अर्पित करना बेहद शुभकारी होता है और इससे सौभाग्य की प्राप्ति होती है.

इसके अलावा इस दिन मां सरस्वती के पूजन और उन्हें पीला वस्त्र अर्पण करने से बच्चों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और पढ़ाई में कमजोर बच्चों की बुद्धि में विकास होता है.

खास दिन घर और वाहन की खरीदारी करना भी बेहद शुभकारी होता है. इस दिन ऐसा करने से धन, सम्पति में बढ़ोतरी होती है.

पीले वस्त्रों का करें धारण

मां सरस्वती को संगीत और विद्या की देवी भी कहतें है. ऐसे में इस दिन संगीत विद्या से जुड़े लोग घर में मां सरस्वती का पूजन कर यदि उनके चरणों मे वाद्य यंत्र अर्पित करते हैं तो उसपर भी देवी की अपार कृपा बरसती है.

इसके अलावा जो भी श्रद्धालु इस दिन माता सरस्वती को पीला वस्त्र, पीला गुलाल और पीला फूल अर्पण करते हैं. उसकी सभी मनोकामनाएं मां सरस्वती पूर्ण करती हैं.

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें