लाइव टीवी

BHU: मुस्लिम प्रोफेसर डॉ. फिरोज को लेकर छात्रों में दो फाड़, आंदोलित छात्र जाएंगे कोर्ट

Upendra Dwivedi | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 21, 2019, 9:05 AM IST
BHU: मुस्लिम प्रोफेसर डॉ. फिरोज को लेकर छात्रों में दो फाड़, आंदोलित छात्र जाएंगे कोर्ट
डॉ. फिरोज खान के पिता भी संस्कृत से स्नातक हैं. (फाइल फोटो)

BHU में संस्कृत के प्रोफेसर डॉ. फिरोज खान की नियुक्ति पर हो रहे विरोध के बीच छात्र दो गुट में बंट गए हैं. डॉ. खान का विरोध करने वाले छात्रों का एक गुट कोर्ट जाने की तैयारी में है.

  • Share this:
वाराणसी. बीएचयू (BHU) में संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के साहित्य विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर डॉ. फिरोज खान (Dr Feroz Khan) की नियुक्ति का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है. आंदोलित छात्रों ने जहां अब न्यायालय जाने का ऐलान किया है तो वहीं बीएचयू के कुछ छात्रों ने फिरोज खान का समर्थन कर दिया है. इस तरह यूनिवर्सिटी के छात्रों में इस मसले पर दो फाड़ हो गया है. छात्रों के बीच विचारधारा की इस जंग के बीच बॉलीवुड कलाकार और बीजेपी (BJP) के पूर्व सांसद परेश रावल (Paresh Rawal) ने ट्वीट कर फिरोज खान का समर्थन किया है.

बॉलीवुड एक्टर और बीजेपी के पूर्व सांसद परेश रावल ने ट्विटर पर प्रतिक्रिया दी. उन्होंने लिखा है, 'बीएचयू में संस्कृत के लिए प्रोफेसर पद पर डॉ. फिरोज खान की नियुक्ति पर हो रहे विरोध से स्तब्ध हूं. भाषा का धर्म से क्या मतलब है? विडंबना है कि फिरोज खान ने अपनी पीएचडी संस्कृत से की है. भगवान के लिए ये बेतुकी बातें करना बंद कीजिए.'

छात्रों के तर्क को बताया बेतुका

एक अन्य ट्वीट में बॉलीवुड एक्‍टर ने लिखा, 'फिरोज खान की नियुक्ति को लेकर जो तर्क दिया जा रहा है, उसी तर्क को मान लिया जाए तो गायक मोहम्मद रफ़ी को कोई भजन नहीं गाना चाहिए था और नौशाद साहब को कोई भजन नहीं लिखना चाहिए था.'

आंदोलित छात्र कोर्ट जाने की तैयारी में

दरअसल, 7 नवंबर से छात्र संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के साहित्य विभाग में सहायक प्रोफेसर पद पर डॉ. फिरोज खान की नियुक्ति के खिलाफ धरने पर बैठे हैं. छात्र बुधवार को भी धरने पर रहे. लिहाजा, संकाय का ताला नहीं खुल सका और शिक्षक बाहर मैदान में बैठे रहे. आंदोलित छात्रों ने अब कोर्ट जाने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि उनकी लड़ाई फिरोज खान से नहीं, बल्कि बीएचयू प्रशासन से है. वहीं, बीएचयू के कुछ छात्रों ने सिंहद्वार पर फिरोज खान का समर्थन कर दिया.


Loading...

इन सबके बीच एक प्रोफेसर ने अपनी फेसबुक वाल पर लिखा है कि बीएचयू को बनाने और आर्थिक सहयोग करने वालों में मुस्लिम भी पीछे नहीं है. बावजूद इसके एक शिक्षक को अध्यापन से वंचित किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

BHU विवाद पर गोरखपुर यूनिवर्सिटी में 32 साल संस्कृत पढ़ाने वाले असहाब अली बोले- टीचर को क्लास के अन्दर करें जज

वाराणसी: ABVP और समाजवादी छात्रसभा के कार्यकर्ताओं में जमकर पथराव, एसओ घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 8:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...