• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • BHU बवाल : तीन अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट-दो पुलिस अधिकारी हटाए गए, 1000 छात्रों पर FIR

BHU बवाल : तीन अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट-दो पुलिस अधिकारी हटाए गए, 1000 छात्रों पर FIR

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (Photo : PTI)

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (Photo : PTI)

उत्तर प्रदेश सरकार ने कथित छेड़छाड़ के मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन के दौरान बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में छात्र-छात्राओं पर लाठीचार्ज किए जाने के संबंध में तीन अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट और दो पुलिस कर्मियों को सोमवार को हटा दिया.

  • Share this:
    उत्तर प्रदेश सरकार ने कथित छेड़छाड़ के मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन के दौरान बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में छात्र-छात्राओं पर लाठीचार्ज किए जाने के संबंध में तीन अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट और दो पुलिस कर्मियों को सोमवार को हटा दिया. घटना के सिलसिले में उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं.

    जानकारी के अनुसार, जिन तीन अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेटों को हटाया गया है उनमें मनोज कुमार सिंह, सुशील कुमार गौंड और जगदम्बा प्रसाद सिंह शामिल हैं.

    इसके अलावा भेलूपुर के सीओ निवेश कटियार को हटाकर उनके स्थान पर कोतवाली सीओ अयोध्या प्रसाद सिंह को नियुक्त किया गया है. वहीं लंका थाना प्रभारी राजीव सिंह को हटाकर पुलिस लाइन भेज दिया गया है और उनकी जगह जैतपुरा थाने के प्रभारी संजीव मिश्रा को नियुक्त किया गया है.

    शनिवार रात को हुए लाठीचार्ज के सिलसिले में अज्ञात पुलिस कर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. इस घटना में कई छात्र-छात्राएं घायल हो गए थे. वहीं दो पत्रकार भी इस पुलिस कार्रवाई में घायल हो गए.

    पुलिस अधिकारियों ने कहा कि विश्वविद्यालय में हिंसा के सिलसिले में 1000 छात्र-छात्राओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

    विपक्षी दलों ने बीएचयू परिसर में पुलिस कार्रवाई को लेकर भाजपा पर निशाना साधा, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इस मामले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की और जल्द से जल्द इस मुद्दे का समाधान निकालने को कहा.

    ज्ञात हो कि कथित छेड़खानी की एक घटना के खिलाफ बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में शनिवार रात को छात्रों के विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया था. हिंसा तब शुरू हुई जब गुरुवार को हुई कथित छेड़खानी का विरोध कर रहे कुछ छात्र विश्वविद्यालय के कुलपति से मिलना चाहते थे. सूत्रों के अनुसार विश्वविद्यालय के सुरक्षा गार्डों ने उन्हें रोका और पुलिस को सूचित किया गया.

    बीएचयू के प्रवक्ता ने कहा कि कुछ छात्र कुलपति के आवास में जबरन प्रवेश करना चाहते थे, लेकिन विश्वविद्यालय के सुरक्षा गार्डों ने उन्हें रोक दिया. इसके बाद हिंसा शुरू हो गई. हालात पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज का सहारा लिया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज