राम मंदिर का भूमि पूजन: पीएम मोदी के लिए काशी के बुनकर ने तैयार किया विशेष अंगवस्त्र
Ayodhya News in Hindi

राम मंदिर का भूमि पूजन: पीएम मोदी के लिए काशी के बुनकर ने तैयार किया विशेष अंगवस्त्र
वाराणसी के बुनकर ने पीएम मोदी के लिए विशेष तौर पर अंगवस्त्र तैयार किया है.

वाराणसी (Varanasi) के सारनाथ स्थित छाही गांव के बुनकर मास्टर बच्चालाल मौर्या ने इस अंगवस्त्र को तैयार किया है. ये खास तौर से पीएम नरेंद्र मोदी के लिए बुना गया है. इस अंगवस्त्र की खासियत ये है कि इसे कैलीग्राफी विधि से बनाया गया है. इसे तैयार करने में 15 दिन का समय लगा है.

  • Share this:
वाराणसी. राम नाम का गूंज अयोध्या (Ayodhya) से काशी (Kashi) तक हो रही है. इस गूंज में हर राम भक्त अपने तरीके से अपनी भक्ति अर्पित कर रहा है. एक तरफ जहां राम मंदिर (Ram Mandir) के भूमि पूजन के लिए वाराणसी से गंगा जल और मिट्टी अयोध्या भेजी गई है. वहीं अब पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के लिए राम नाम का अंगवस्त्र विशेष तौर पर तैयार किया गया है. इसमें वाराणसी बुनकरी का अद्भुत संगम है. इस अंगवस्त्र को बनाने वाले वाराणसी के ही बुनकर हैं. उन्होंने वाराणसी के अधिकारियों से इसे पीएम तक पहुंचाने का आग्रह किया है.

15 दिन की कड़ी मेहनत के बाद तैयार किया गया

वाराणसी के सारनाथ स्थित छाही गांव में रहने वाले बुनकर मास्टर बच्चा लाल मौर्या ने इस अंगवस्त्र को तैयार किया है. ये खास तौर से पीएम नरेंद्र मोदी के लिए बुना गया है. इस अंगवस्त्र की खासियत ये है कि इसे कैलीग्राफी विधि से बनाया गया है. बुनकर बच्चा लाल मौर्या ने बताया कि इसे तैयार करने में लगभग 15 दिन का समय लगा है. इस अंगवस्त्र को डिजाइन, नक्शा, पत्ता, ताना बाना, तैयार कर के फिर बुनाई शुरू हुई. इसके साथ ही इस वस्त्र को पीली रंग के ताने से लाल बाना द्वारा हैंडलूम द्वारा बुन कर 22x72 के साइज में बनाया गया है.



bacchalal vns
वाराणसी के सारनाथ स्थित छाही गांव में रहने वाले बुनकर मास्टर बच्चा लाल मौर्या ने इस अंगवस्त्र को तैयार किया है

काशी से अयोध्या का सदियों का नाता

जीआई विशेषज्ञ रजनीकांत ने बताया कि काशी के अंगवस्त्र से भगवान श्रीराम के उत्सव में शामिल होने पर प्रधानमंत्री जी का अभिनन्दन किया जाए. काशी से अयोध्या का सदियों का नाता है, वह 5 अगस्त को भी चरितार्थ होगा. डॉ रजनीकांत ने बताया कि जीआई उत्पाद और ओडीओपी में शामिल सिल्क के इस अंगवस्त्र में ही सामाजिक समरसता का भाव सर्वोपरि है. शिव और राम के मिलन से पूरे विश्व का कल्याण इस धनुच में निहित है, जो इस अंगवस्त्र पर बुना हुआ है. पीएम नरेंद्र मोदी तक इसे पहुंचाने के लिए बुनकर बच्चालाल व जीआई विशेषज्ञ रजनीकांत इसे वाराणसी के कमिश्नर को सौपेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading