लाइव टीवी

स्वच्छता सर्वे में PM मोदी की काशी को झटका, रैंकिंग में वाराणसी कैंट स्टेशन 17 पायदान खिसका

Upendra Dwivedi | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 4, 2019, 10:19 AM IST
स्वच्छता सर्वे में PM मोदी की काशी को झटका, रैंकिंग में वाराणसी कैंट स्टेशन 17 पायदान खिसका
वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन स्वच्छता सर्वे में 17 पायदान नीचे खिसक गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया ने स्वच्छता सर्वे (Cleanliness Survey) के आधार पर देश के प्रमुख रेलवे स्टेशनों की रैकिंग जारी की है. इसमें वाराणसी कैंट स्टेशन (Varanasi Cantt Railway Station) की रैकिंग पिछले साल के मुकाबले 17 पायदान नीचे खिसक की गई है.

  • Share this:
वाराणसी. क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया  ने स्वच्छता सर्वे (Cleanliness Survey) के आधार पर देश के प्रमुख रेलवे स्टेशनों की रैकिंग जारी की है. इसमें वाराणसी कैंट स्टेशन (Varanasi Cantt Railway Station) की रैकिंग पिछले साल के मुकाबले 17 पायदान नीचे खिसक की गई है. बता दें वाराणसी स्टेशन की सफाई व्यवस्था में हर महीने करीब 20 लाख रुपए खर्च होते हैं. हालांकि जो ताजा रैकिंग जारी हुई है, उसमे वाराणसी का कैंट रेलवे स्टेशन अब भी टॉप 100 में जगह बरकरार रखे हुए है लेकिन उसकी रैकिंग 69 से गिरकर 86 पर आना तब भी बड़ी बात है, जब उसकी सफाई पर इतनी बड़ी रकम खर्च होती हो. ये भी चौंकाने वाली बात है कि जो स्टेशन रेल मंत्री से लेकर रेलवे चेयरमैन और सारे बड़े अफसरों की प्राथमिकता सूची में हो, उसकी रैकिंग गिरना बड़ा सवाल है.

बनारस के रेलवे स्टेशन बलिया, आजमगढ़ से रहे पीछे
बता दें कि कैंट स्टेशन को 1000 अंक में 827.33 अंक मिले हैं. रैकिंग यात्रियों के फीडबेक में कम मिले नंबर के आधार पर गिरी है. यात्रियों के फीडबैक में कैंट स्टेशन को 286.50 अंक ही मिले हैं. अब बात कर ली जाए तो वाराणसी शहर के दूसरे स्टेशनों की. जिस मंडुवाडीह स्टेशन का कायाकल्प हाल ही में हुआ, उसकी रैकिंग आजमगढ़ स्टेशन से भी कम रही. मंडुवाडीह की रैकिंग 272वीं है तो आजमगढ़ की 203. यही नहीं, वाराणसी सिटी स्टेशन से अच्छी रैकिंग बलिया जैसे छोटे स्टेशन की है. सिटी स्टेशन की 396 जबकि बलिया की 394 है. पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन इस बार वाराणसी कैंट स्टेशन से ऊपर 68वें रैकिंग पर पहुंचा है. यानी पूर्वांचल के दूसरे स्टेशनों के मुकाबले वाराणसी के तीनो स्टेशन की रैकिंग इस बार पिछड़ी है.

यात्री सुविधाओं में कमी बना सर्वे में पिछड़ने का कारण

हालांकि बताया जा रहा है कि कैंट स्टेशन के स्वच्छता सर्वें में पिछड़ने के कारणों के पीछे यात्रियों के फीडबेक में मिले कम नंबर है. नए यात्री हाल में व्यवस्थाएं न बढ़ाने के कारण यात्रियों की भीड़ मुख्य हाल, टिकट काउंटर हाल, प्लेटफार्म और फुट ओवरब्रिज पर बराबर बनी रहती है. इस कारण सफाई व्यवस्था प्रभावित हुई लेकिन तमाम सब तर्कों पर सर्वे की रैकिंग की सच्चाई को अफसरों को स्वीकारना पड़ेगा और कोशिश करनी होगी अगली बार रैकिंग सुधारने की.

ये भी पढ़ें:

पटरियों पर दौड़ी 'फ्लाइट' वाली तेजस एक्सप्रेस, सीएम योगी ने दिखाई हरी झंडी
Loading...

प्रेमी संग आपत्तिजनक हालत में थी महिला, पति ने देखा तो पत्नी ने की खुदकुशी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 9:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...