• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • पूर्वांचल में चुनावी चक्रव्यूह का आखिरी द्वार भेदने को बीजेपी खटखटा रही घरों की कुंडी!

पूर्वांचल में चुनावी चक्रव्यूह का आखिरी द्वार भेदने को बीजेपी खटखटा रही घरों की कुंडी!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

वैसे तो प्रचार के हर तरीके अपनाने में बीजेपी का कोई जवाब नहीं है. लेकिन वाराणसी सीट के लिए बीजेपी ने अलग रणनीति बनाई है.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण को भेदने के लिए बीजेपी एक खास रणनीति पर काम कर रही है. सातवें चरण में वाराणसी समेत पूर्वांचल की 13 सीटों पर मतदान होना है. लिहाजा गठबंधन और कांग्रेस के अलावा बीजेपी ने भी अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. चुनावी चक्रव्यूह के आखिरी द्वार को भेदने के लिए अखिलेश-मायावती की संयुक्त रैली, प्रधानमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष के दौरे के कार्यक्रम ने पूरब में सरगर्मी बढ़ा दी है.

वैसे तो प्रचार के हर तरीके अपनाने में बीजेपी का कोई जवाब नहीं है. लेकिन वाराणसी सीट के लिए बीजेपी ने अलग रणनीति बनाई है. दरअसल मोदी की जीत पर तो किसी को कोई संशय नहीं है, लेकिन बीजेपी इसे बड़ी जीत में तब्दील कर पूर्वांचल की अन्य सीटों पर भी सन्देश देना चाहती है. यही वजह है कि रविवार शाम को ही बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह वाराणसी पहुंचे और पदाधिकारियों के साथ 19 मई को होने वाले मतदान की रणनीति पर चर्चा की.

राजनैतिक जानकारों की मानें तो बनारस की सीट बीजेपी के लिए प्रचार अभियान का बड़ा मॉडल है. यहां से बीजेपी मोदी के जीत के अंतर को कम से कम चार से पांच लाख रखना चाहती है. इसीलिए प्रदेश भर से करीब 10 हजार से अधिक नेता और कार्यकर्ताओं ने काशी में डेरा डाल दिया है. इसके लिए गुजरात, भोपाल और दिल्ली समेत अन्य राज्यों से नेता वाराणसी पहुंच चुके हैं.

बीजेपी ने अपनी रणनीति के तहत हर दरवाजे पर दस्तक देने के लिए कार्यकर्ताओं से कुंडी बजाने को कहा है. बूथ प्रबंधक से लेकर हर स्तर तक सर्तकता बरती जा रही है. पार्टी ने चुनाव प्रचार ही नहीं बल्कि चुनाव मैदान के लिए अपने कार्यकर्ताओं को ढंग से प्रशिक्षित किया है. 17 मई को चुनाव प्रचार ख़त्म होने के बाद बीजेपी के कार्यकर्ता, पदाधिकारी और नेता चुनाव पर्ची के साथ हर घर की कुंडी खटखटाएंगे.

अमित शाह ने रविवार शाम ली पदाधिकारियों की बैठक में मतदान से 48 घंटे पहले इस विशेष रणनीति को अमल में लाने के निर्देश दिए हैं. इसके तहत हर कार्यकर्ता 10-घरों में जाएगा. कुंडी खटखटाकर उन्हें चुनवाई पर्ची देगा और मोदी को वोट देने की अपील करेगा. दरअसल बीजेपी की निगाहें वाराणसी से सटे चंदौली लोकसभा सीट पर भी है, जहां से बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय मैदान में हैं. इस सीट परे गठबंधन बीजेपी को कड़ी टक्कर देता दिख रहा है, लिहाजा कार्यकर्ता इस चुनाव प्रचार को वहां भी जमीन पर लाएंगे.

गठबंधन और प्रियंका ने भी झोंकी ताकत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वाराणसी में घेरने के लिए गठबंधन और कांग्रेस ने भी पूरी ताकत झोंक दी है. गठबंधन सोमवार को गाजीपुर और गोरखपुर में संयुक्त रैली का आयोजन कर रहा है तो 15 को प्रियंका गांधी काशी में रोड शो और काशी विश्वनाथ का दर्शन करेंगी.

ये भी पढ़ें-

वाराणसी से PM मोदी के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ रहे अतीक अहमद ने मैदान छोड़ा

आतंकियों को मारने के लिए क्या चुनाव आयोग से अनुमति लेंगे: PM

सुल्तानपुर में पहली बार किन्नरों ने डाला वोट, कहा...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज