लॉकडाउन से परेशान हुई दुल्हन, घरवालों के साथ ससुराल पहुंचकर डाला वरमाला
Varanasi News in Hindi

लॉकडाउन से परेशान हुई दुल्हन, घरवालों के साथ ससुराल पहुंचकर डाला वरमाला
लॉकडाउन से परेशान हुई दुल्हन

लॉकडाउन (Lockdown) के कारण बारात जा नहीं सकती थी. इसलिए शादी ये सोचकर आगे के लिए टाल दी गई कि अगले महीने जब लॉकडाउन हटेगा तब नई तारीख पर शादी हो जाएगी.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
वाराणसी. कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) घोषित है. इसी क्रम में धर्मनगरी वाराणसी (Varanasi) में एक दुल्हन खुद ही घरवालों के साथ ससुराल पहुंच गई और फिर पंचायत के सामने दोनो परिवारों की मौजूदगी में मंदिर के भीतर सात फेरे पूरे हुए. ऐसी तस्वीर देखकर और सुनकर हर कोई चौंक गया. बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के कारण एक बार शादी की तारीख आगे बढ़ी लेकिन फिर भी जब लॉकडाउन नहीं खुला, जिसके बाद दुल्हन खुद ही घरवालों के साथ ससुराल पहुंचकर मंदिर के भीतर सात फेरे लिए.

मामला वाराणसी के कपसेठी थाने के दौलतिया गांव का है. दरअसल, वाराणसी की बालाजी नगर कालोनी, भगवानपुर निवासी मुसाफिर सिंह की बेटी सुलेखा की शादी कपसेठी थाना के दौलतिया गांव निवासी संदीप कुमार सिंह से 4 अप्रैल को होनी थी. लेकिन लॉकडाउन के कारण बारात जा नहीं सकती थी. इसलिए शादी ये सोचकर आगे के लिए टाल दी गई कि अगले महीने जब लॉकडाउन हटेगा तब नई तारीख पर शादी हो जाएगी.

पंडित ने नया मुर्हुत 24 मई निकाल दिया लेकिन लॉकडाउन-4 में भी बारात की भीड़-भाड़ पर बंदिशें जारी रहीं. ऐसे में लड़की सुलेखा सिंह घरवालों के साथ सीधे अपने ससुराल दौलतिया पहुंची. दोनो घरों के लोग मिले, बातचीत हुई. फिर ससुराल के ही मंदिर में दुल्हन और दुल्हे ने सात फेरे लेकर वरमाला डाली और एक दूजे के हो गए. कोरोना काल में जिसने भी इस शादी के बारे में सुना वो हैरान रह गया. शादी के महंगे खर्चे पर एतराज करने वाले कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने कहा कि लॉकडाउन का ये रंग ठीक है, बेवजह के खर्चे नहीं हो रहे हैं.



ये भी पढ़ें:



अयोध्या: लॉकडाउन के दौरान 'रामलला' को मिला करोड़ों रुपये का दान
First published: May 25, 2020, 3:55 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading