लाइव टीवी

चंदौली लोकसभा सीट: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष को गठबंधन से मिल रही कड़ी चुनौती

Amit Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: May 15, 2019, 12:54 PM IST
चंदौली लोकसभा सीट: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष को गठबंधन से मिल रही कड़ी चुनौती
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय की फाइल फोटो

चंदौली सीट पर इस बार विकास का मुद्दा एक बार फिर हाशिए पर है और सभी दल जातिगत समीकरण को साधने में जुटे हैं.

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संसदीय सीट वाराणसी से सटे चंदौली लोकसभा सीट पर इस बार मुकाबला दिलचस्प नजर आ रहा है. इस सीट से बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय एक बार फिर से चुनावी मैदान में हैं. गठबंधन की तरफ से समाजवादी पार्टी ने जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय चौहान को उम्मीदवार बनाया है. कांग्रेस के चुनाव निशान पर पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा की पत्नी शिवकन्या कुशवाहा जन अधिकार पार्टी की उम्मीदवार हैं.

आखिरी चरण में चंदौली लोकसभा सीट पर 19 मई को मतदान होना है. चंदौली सीट पर इस बार विकास का मुद्दा एक बार फिर हाशिए पर है और सभी दल जातिगत समीकरण को साधने में जुटे हैं. राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो 2014 की तुलना में इस बार परिस्थितियां बीजेपी के लिए उतनी अनुकूल नहीं हैं. पिछली बार सपा, बसपा अलग-अलग चुनाव मैदान में थे. इस बार दोनों ही दल गठबंधन के साथ मैदान में हैं. वहीं कांग्रेस भी जनाधिकार पार्टी के प्रत्याशी के साथ मैदान में उतारी है, जिसकी वजह से मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है. इससे इतर बीजेपी के तीन बार से सांसद रहे आनंद रत्न मौर्य भी पार्टी से खफा हैं और अलग हो गए हैं. इसका भी असर बीजेपी को पड़ सकता है.

हालांकि बीजेपी के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बन चुकी इस सीट पर पार्टी पूरी ताकत लगा रही है. इसी क्रम में पूर्व एमएलसी विनीत सिंह ने बीजेपी का समर्थन किया है. विनीत सिंह बाहुबली छवि के हैं और कहा जा रहा है कि उनका समर्थन बीजेपी को मिलने से पार्टी को कई सीटों पर फायदा हो सकता है.

दरअसल पूर्वांचल में ब्राह्मण-क्षत्रिय की आपसी अदावत बीजेपी के लिए इस सीट पर मुश्किल खड़ी कर सकती है. कहा जा रहा था कि क्षत्रिय इस बार एक ब्राह्मण प्रत्याशी के खिलाफ मतदान कर सकता है. लिहाजा बीजेपी ने विनीत सिंह को अपने पाले में लाकर इस चुनौती से निपटने की कोशिश की है. पूर्व एमएलसी विनीत सिंह के समर्थन से बीजेपी को गाजीपुर, चंदौली, बनारस, मिर्जापुर समेत कई सीटों पर फायदा हो सकता है. बता दें 2010 में विनीत सिंह बसपा के टिकट पर एमएलसी बने थे. 2017 में उन्होंने विधानसभा का चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें बीजेपी के सुनील सिंह से हार का सामना करना पड़ा था. हालांकि उन्हें 65 हजार वोट हासिल हुए थे.

जातीय गणित

1,952,756 कुल जनसंख्या
1,017,905 पुरुष आबादी
Loading...

934,851 महिला आबादी
88% हिंदू
11% मुस्लिम
01% अन्य

ये भी पढ़ें:

लखनऊ में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, कॉल गर्ल समेत 9 गिरफ्तार

पीली साड़ी वाली पोलिंग अफसर का बेटा भी बना 'सेलिब्रेटी', बोला...

कांग्रेस MLA अदिति सिंह का आरोप- बीजेपी प्रत्याशी के भाई अवधेश सिंह के इशारे पर हुआ हमला

घोसी से गठबंधन प्रत्याशी अतुल राय के मलेशिया भागने की आशंका, लुकआउट नोटिस जारी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 15, 2019, 12:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...