Cyclone Tauktae: चंदौली के मर्चेंट नेवी ऑफिसर यतींद्र सिंह का नहीं लगा सुराग, गुमसुम हुई बेटियां

लापता मर्चेंट नेवी ऑफिसर यतींद्र सिंह का नहीं लगा सुराग (File photo)

यतीन्द्र विक्रम सिंह की पत्नी रजनी सिंह (Rajni Singh) ने बताया कि रविवार की शाम 7 बजे और रात पौने 12 बजे उनकी पति से बात हुई. जो अंतिम बात है.

  • Share this:
चंदौली. चक्रवाती तूफान तौकते (Cyclone Tauktae) के कारण अरब सागर में डूबे जहाज वारप्रदा टग बोट में सवार लापता मर्चेंट नेवी के चीफ आफिसर (Merchant Navy officer) यतेंद्र विक्रम सिंह के बारे में पांचवे दिन भी कोई ठोस जानकारी नहीं मिली हैं. उधर मौसम विभाग के पुन: तूफान आने की संभावित चेतावनी के बाद बचाव में लगे आईएनएस कोच्चि एवं आईएनएस कोलकाता पोत भी किनारे लौट आए हैं. जबकि सेना के जवान यतींद्र सहित अन्य लापता जवानों की खोजबीन कर रहे हैं. ऐसे हालत में अब परिजनों की उम्मीदें भी टूटती जा रही हैं.

प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक रहे स्व. सुरेंद्र प्रताप सिंह के तीन पुत्रों में सबसे छोटे यतींद्र वर्ष 2005 से मर्चेंट नेवी में कार्यरत हैं. अरब सागर में तकरीबन 70 किमी भीतर एनजीटी का आयल फाल्ड है जहां यतींद्र की ड्यूटी थी. परिवार सहित गांव के लोग यतींद्र के आने की उम्मीद पाले हुए हैं. हजारों आंखें उनका इंतजार कर रही हैं.

UP Panchayat Chunav: नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों और पंचायत सदस्यों के शपथ ग्रहण का कार्यक्रम जारी

यतींद्र और उनके 13 साथी लाइफ जैकेट पहनकर समुद्र में कूद गए. दो लोगों को जवानों ने हेलीकॉप्टर की मदद से बचा लिया, लेकिन अन्य अब भी लापता हैं. जिसमें यतींद्र भी शामिल हैं. उनके लापता होने के बाद से ही घर में मातम पसरा हुआ है. बता दें कि यतींद्र की दो बेटियां छह वर्षीय रूही और दो साल की सान्वी भी गुमसुम हैं.

तुम सो जाओ... चिंता मत करो... मैं नेटवर्क में रहूंगा...
यतीन्द्र विक्रम सिंह की पत्नी रजनी सिंह ने बताया कि रविवार की शाम 7 बजे और रात पौने 12 बजे उनकी पति से बात हुई. जो अंतिम बात है. उस वक्त उन्होंने बताया था कि चक्रवात तेज है. तुम सो जाओ... चिंता मत करो... मैं नेटवर्क में रहूंगा... फिर सुबह बात होगी... लेकिन सोमवार की सुबह 7 बजे से ही उनकी मोबाइल स्वीच ऑफ है. इसके थोड़ी ही देर बाद कंपनी की तरफ से फोन आया, जिसमें बताया गया कि यतींद्र अरब सागर में लापता हो गए हैं.