रात को काशी की सड़कों पर निकले CM योगी, विकास कार्यों की जानी हकीकत

एसटीपी पहुंचते ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने हेलमेट पहना और सीधे ऊपरी मंजिल पर पहुंचे. वहां अधिकारियों से जानकारी लेने के बाद एसटीपी को 30 सितंबर तक पूरा करने का निर्देश दिया.

News18Hindi
Updated: September 2, 2018, 12:28 PM IST
रात को काशी की सड़कों पर निकले CM योगी, विकास कार्यों की जानी हकीकत
जानकारी लेते सीएम योगी
News18Hindi
Updated: September 2, 2018, 12:28 PM IST
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार से दो दिवसीय दौरे पर पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में है. जहां उन्होंने देर रात परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण कर विकास कार्यो की जमीनी हकीकत जानी. जगह-जगह गडढ़े और हिचकोले खाते जब वे पहुंचे तो उन्होंने मौके पर मौजूद सभी अधिकारियों की जमकर क्लास ली. बता दें कि सीएम बनने के बाद योगी 29वीं बार वाराणसी के दौरे पर आए है.

सीएम योगी का काफिला लमही गांव से निकलकर ऐढ़े के पास रुका. जहां वाराणसी-सुल्तानपुर सड़क की धीमी प्रगति पर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों से नाराजगी जाहिर की. रिंग रोड के किनारे जमीन के नोटिफिकेशन करने की बात अधिकारियों से कही. इसके अलावा निर्माण कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया. इस दौरान सीएम योगी ने इस कार्य को पूरा करने के लिए 30 सितंबर तक की समयसीमा तय की हैं.

एसटीपी पहुंचे सीएम योगी


एसटीपी पहुंचते ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने हेलमेट पहना और सीधे ऊपरी मंजिल पर पहुंचे. वहां अधिकारियों से जानकारी लेने के बाद एसटीपी को 30 सितंबर तक पूरा करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा नमामि गंगे परियोजना के तहत गंगोत्री से लेकर गंगासागर तक गंगा की अविरलता, निर्मलता को लेकर अभियान चल रहा है. सालिड, लिक्विड वेस्ट गंगा में न गिरे इसके लिए परियोजना के तहत काम चल रहा है. वहीं सीएम ने वाराणसी के विकास कार्यों एवं कानून-व्यवस्था की समीक्षा बैठक सर्किट हाउस में की.

संग्रहालय पहुंचे सीएम योगी


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सारनाथ स्थित पुरातात्विक संग्रहालय पहुंचे. उन्होंने फसाड लाइट में रोशन म्यूजियम को देखा. थोड़ी देर कैंपस में रुके और अधिकारियों से मंत्रणा की. साथ ही लाइटिंग और कैंपस को और बेहतर बनाने का सुझाव दिया. सीएम योगी आदित्यनाथ के दो दिवसीय दौरे के मद्देनजर प्रशासनिक मशीनरी एक बार फिर आंकड़ेबाजी में जुट गई है. आंकड़ों के जरिए मुख्यमंत्री को कामों की संतोषजनक प्रगति का दावा किया जाएगा.

यह भी पढ़ें:
Loading...
बरेली: रहस्यमय बुखार से 27 लोगों की मौत, गांव पहुंचा डाॅक्टरों का दल

शाहजहांपुर: बिजली गिरने से 5 बच्चों समेत 7 लोगों की मौत

UPSSSC: नलकूप चालक की परीक्षा का पेपर हुआ लीक, एसटीएफ को सौंपी जांच

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर