लाइव टीवी

CM योगी ने काशी विश्वनाश मंदिर में की VIP दर्शन की शुरुआत

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 22, 2018, 8:31 AM IST
CM योगी ने काशी विश्वनाश मंदिर में की VIP दर्शन  की शुरुआत
काशी विश्वनाथ मंदिर

अब 300 रुपये देकर कोई भी श्रद्धालु लाइन में लगे बगैर बाबा विश्‍वनाथ का दर्शन कर सकता है. यही नहीं, यहां पर पूजन सामग्री से लेकर बनारस की कारीगरी के उत्पाद भी श्रद्धालुओं को मिल जाएंगे.

  • Share this:
दक्षिण भारत के मंदिरों की तर्ज पर द्वाद्वश ज्‍योर्तिलिंगों में प्रमुख काशी विश्‍वनाथ मंदिर में भी क्‍यूलेस सेवा यानी वीआईपी दर्शन की व्‍यवस्‍था शुरू हो गई है. अब 300 रुपये देकर कोई भी श्रद्धालु लाइन में लगे बगैर बाबा विश्‍वनाथ का दर्शन कर सकता है. यही नहीं, यहां पर पूजन सामग्री से लेकर बनारस की कारीगरी के उत्पाद भी श्रद्धालुओं को मिल जाएंगे. इन सेवाओं की शुरुआत शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की.

जानकारी के मुताबिक, श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के छत्ताद्वार के सामने श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट की ओर से इस सुविधा केंद्र को खोला गया है. इस सुविधा केंद्र की सबसे बड़ी खासियत ये है कि विश्‍वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन के लिए देश-विदेश से आने वाले भक्‍तों को अब लंबी कतार में खड़ा नहीं रहना पड़ेगा.

क्योंकि भक्‍तों को लाइन में लगे बगैर सहजता से दर्शन के लिए मंदिर प्रशासन ने वीआईपी दर्शन की कार्ययोजना को अंतिम रूप दे दिया है. फिलहाल ट्रायल के तौर पर क्‍यूलेस सेवा शुरू की गई है. यहां से श्रद्धालुओं को टिकट लेना होगा. टिकट लेने के बाद उसे क्यूआर कोड मिलेगा. साथ ही यहीं से श्रद्धालु को एक अर्चक मिल जाएगा. इसके बाद बने लॉकर में श्रद्धालु अपना सामान, मोबाइल वगैरह रख सकेंगे.

अर्चक श्रद्धालु को मंदिर के गर्भगृह के उत्तरी गेट से प्रवेश कर दर्शन-पूजन कराएगा. दर्शन के बाद पश्चिमी गेट से श्रद्धालुओं को बाहर निकाला जाएगा. इसके साथ ही बुजुर्ग और दिव्‍यांगों के लिए व्‍हीलचेयर की नि:शुल्‍क व्‍यवस्‍था उपलब्‍ध कराई जाएगी. व्‍हील चेयर से दर्शनार्थी को नीलकंठ द्वारा पर बने रैम्‍प से मंदिर में प्रवेश मिलेगा.

ये भी पढे़ं- पहले पिलाई शराब, फिर गला दबाकर कर दी हत्या

इस नई सेवा की शुरुआत होने के बाद मंदिर की वेबसाइट पर देश-विदेश से कोई भी शिवभक्‍त तीन सौ रुपए देकर बुकिंग करा सकता है. इनमें प्रति व्‍यक्ति के हिसाब से टिकट मान्‍य होगा. टिकट पर दर्शन के लिए तारीख के साथ समय अंकित रहेगा.

ये भी पढ़ें- 'महिलाओं को स्कार्फ बांधकर करनी चाहिए एंकरिंग और रिपोर्टिंग'
Loading...

रिपोर्ट- उपेन्द्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 22, 2018, 8:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...