कांग्रेस को यूपी में गठबंधन के फैसले पर दोबारा विचार की उम्मीद, चिदंबरम बोले- हमें न समझें कमतर

कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम 2019 लोकसभा में कांग्रेस के घोषणा पत्र के लिये आम लोगों के सुझाव लेने के लिये एक कार्यक्रम में शरीक हुए थे.

भाषा
Updated: January 13, 2019, 3:07 AM IST
कांग्रेस को यूपी में गठबंधन के फैसले पर दोबारा विचार की उम्मीद, चिदंबरम बोले- हमें न समझें कमतर
फाइल फोटो
भाषा
Updated: January 13, 2019, 3:07 AM IST
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने शनिवार को कहा कि उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव अकेले लड़ने के लिये तैयार है लेकिन उन्होंने उम्मीद जताई कि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन पर पुनर्विचार किया जाएगा. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस को उत्तर प्रदेश में कमतर नहीं समझा जा सकता और जरूरत पड़ने पर वह अपनी ही ताकत पर चुनाव लड़ेगी.

चिदंबरम का यह बयान शनिवार को उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के बीच लोकसभा चुनाव के लिये हुए गठबंधन के बाद आया है जिसमें कांग्रेस जगह नहीं दी गई है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने उम्मीद जतायी कि समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती के बीच सीटों को लेकर बंटवारे को लेकर हुआ समझौता अंतिम नही है.

यह भी पढ़ें:  लोकसभा की रणभेरी: पीएम मोदी के सियासी संदेश में BJP कैडर्स के लिए थी ये चेतावनी



चिदंबरम ने कहा कि जैसे ही चुनाव नजदीक आएंगे, उत्तर प्रदेश में एक व्यापक आधार वाला गठबंधन बनाया जाएगा. उन्होंने यहां पार्टी के एक कार्यक्रम से इतर कहा कि लक्ष्य बीजेपी को हराना है और उम्मीद है कि सभी धर्मनिरपेक्ष और उदारवादी दल चुनाव लड़ने के लिये एक साथ आएंगे.

इससे पहले सपा और बसपा ने शनिवार को लखनऊ में गठबंधन का ऐलान किया, जिसके तहत दोनों दल लोकसभा की कुल 80 सीटों में से 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. सपा और बसपा ने ऐलान किया कि वे दो अन्य सीटों पर छोटे साथी दल चुनाव लड़ेंगी.

यह भी पढ़ें:  OPINION: देश का सियासी भविष्य तय करेगा सपा-बसपा गठबंधन

चिदंबरम 2019 लोकसभा में कांग्रेस के घोषणा पत्र के लिये आम लोगों के सुझाव लेने के लिये एक कार्यक्रम में शरीक हुए थे.
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...