लाइव टीवी

परमधर्म संसद ने कराया ‘स्वर्णालय श्रीरामलला’ के बाल मंदिर का निर्माण, 21 टन है वजन
Varanasi News in Hindi

Upendra Dwivedi | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 18, 2020, 9:13 PM IST
परमधर्म संसद ने कराया ‘स्वर्णालय श्रीरामलला’ के बाल मंदिर का निर्माण, 21 टन है वजन
परमधर्मसंसद् 1008 द्वारा कराया गया स्वर्णालय श्रीरामलला के बाल मंदिर का निर्माण.

परमधर्मसंसद् 1008 द्वारा इस बाल मन्दिर ‘स्वर्णालय श्रीरामलला’ (Swarnalaya Shriramalala) का निर्माण किया गया है, जिसमें 12 टन सागवान की लकड़ी का प्रयोग किया गया है. जबकि इसका कुल वजन लगभग 21 टन है.

  • Share this:
वाराणसी. ज्योतिष्पीठाधीश्वर द्वारा शारदा पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के आदेश पर परमधर्म संसद 1008 ने बाल मंदिर स्वर्णालय श्रीरामलला (Swarnalaya Shriramalala) का निर्माण किया गया है. इसे वाराणसी (Varanasi) में मीडिया के सामने पेश किया गया, जिसमें 12 टन सागवान की लकड़ी का प्रयोग किया गया है. जबकि इसका कुल वजन लगभग 21 टन का है. यही नहीं, इसकी लागत लगभग 21 लाख बताई जा रही है, जिसे 21 कारीगरों ने करीब 21 दिन में बनाकर तैयार किया है. ये कारीगर यूपी के सहारनपुर के अलावा वाराणसी और मिर्जापुर से आए हैं.

राम मंदिर ट्रस्‍ट की 19 को मीटिंग
एक ओर श्रीराम जन्मभूमि न्यास ट्रस्ट की कल यानी 19 फरवरी को पहली बैठक होने जा रही है, वहीं दूसरी ओर न्यास ट्रस्ट पर सवाल खड़ा करने वाले शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के शिष्य प्रतिनिधि स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद की ओर से वाराणसी में बाल मंदिर स्वर्णालय श्रीरामलला का मॉडल पेश किया गया. विधि विधान से पूजा अर्चना कर जनता के सामने इसे लाया गया. रामालय ट्रस्ट के इस सिंहासन और मंदिर का सपना कितना साकार हो पाएगा, ये तो आने वाला वक्‍त बताएगा, लेकिन मीडिया से बातचीत में स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि वो ट्रस्ट संघ का है.

up, बनारस, राम मंदिर RAM MANDIR
21 कारीगरों ने करीब 21 दिन में बनाकर तैयार किया है.




संघ की नहीं शंकराचार्य की मानेंगे बात
इस मौके पर स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि हम सनातन धर्मी शंकराचार्य की बात मानेंगे, न कि संघ की. एक बार फिर उन्होंने ट्रस्ट निर्माण पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए सवाल खड़ा किए. उन्होंने कहा कि जैसे ही शंकराचार्य का आदेश होगा, हम अयोध्या कूच करेंगे. कोई भी हमें राम से दूर नहीं कर सकता. अयोध्या में राम मंदिर बनेगा, न कि स्मारक. राम इंसान नहीं, भगवान थे और ये बात संघ को समझनी होगी. रामलला अभी भी पंडाल में है, जो ठीक नहीं है.

 

ये भी पढ़ें-

AMU पहुंची शायर मुनव्वर राणा की बेटी, भाजपा-RSS पर लगाया ये बड़ा आरोप

 

मुठभेड़: 1 लाख का इनामी बदमाश ढेर, सीओ को लगी गोली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 9:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर