Coronavirus effect- न गले मिले, न अबीर लगाया, मास्क पहन कर मना होली मिलन का जश्न...
Varanasi News in Hindi

Coronavirus effect- न गले मिले, न अबीर लगाया, मास्क पहन कर मना होली मिलन का जश्न...
वाराणसी में होली मिलन समारोह

हर वर्ष इस होली मिलन (Holi Milan) समारोह में अबीर और गुलाल से होली खेली जाती थी तो वहीं इस बार अबीर- गुलाल की जगह गुलाब के पंखुड़ियों से होली खेली गई. इस दौरान समारोह में शामिल सभी लोग अपने चेहरे पर मास्क लगाए हुए थे जिससे कि कोरोना वायरस (coronavirus) से बच सकें.

  • Share this:
वाराणसी. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बचाव के लिए पीएम मोदी (PM Modi) के द्वारा होली मिलन (Holi Milan) समारोह में शिरकत न करने के ऐलान के बाद उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varansi) में होली मिलन का समारोह तो जरुर आयोजित किया गया लेकिन अनोखे ढंग से. इस होली मिलन समारोह में न तो किसी ने एक दूसरे को गले लगाकर के होली की बधाई दी और न ही एक दूसरे से हाथ मिलाया. तो वहीं अबीर और गुलाल की जगह गुलाब की पंखुड़ियों का प्रयोग किया गया वो भी चेहरे पर मास्क लगाकर. वाराणसी में कोरोना वायरस की दहशत के बीच मनाया गया व्यापार मंडल का होली मिलन समारोह अब चर्चा का विषय बना हुआ है.

बता दें कि वाराणसी जनपद (Varanasi District) के सिगरा स्थित एक निजी मैरिज लॉन में यह होली मिलन समारोह आयोजित किया गया था. हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी होली के त्यौहार के बाद मनाये जाने वाले होली मिलन समारोह में बनारस के व्यापार मंडल से जुड़े व्यापारी शामिल हुए. आयोजकों का कहना है कि कोरोना वायरस अलर्ट (Coronavirus alert) को देखते हुए उससे बचाव का संदेश देने के लिए इस बार के होली मिलन समारोह को आयोजन किया गया जिसमें बनारस के सभी व्यापारी व उनके परिवार के लोग शामिल हुए.

अबीर-गुलाल की जगह गुलाब की पंखुड़ियों से खेली गई होली
जहां हर वर्ष इस होली मिलन समारोह में अबीर और गुलाल से होली खेली जाती थी तो वहीं इस वर्ष अबीर और गुलाल की जगह गुलाब के पंखुड़ियों से होली खेली गई. इस दौरान समारोह में शामिल सभी लोग अपने चेहरे पर मास्क लगाए हुए थे जिससे कि कोरोना वायरस से बच सकें. इसके साथ ही उन्होंने यह संदेश दिया कि स्वास्थ्य से खिलवाड़ ना करें. बनारस के होली मिलन समारोह में सैकड़ों की संख्या में व्यापारी एकत्रित हुए थे जिन्होंने इस अनोखे आयोजन का स्वागत किया. व्यापार मंडल के अध्यक्ष अजित सिंह बग्गा ने कहा कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी होली मिलन समारोह आयोजित किया गया था. लेकिन इस बार के होली मिलन समारोह में हमने कोरोना वायरस अलर्ट को देखते हुए अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखा और यह संदेश देने की कोशिश की कि होली के बाद कई दिनों तक आयोजित होने वाले होली मिलन समारोह में इस तरीके से बचाव रखा जाए और रंगों और गुलाल की जगह फूलों से होली खेली जाए और सभी लोग सोशल गैदरिंग के समय मास्क का प्रयोग करें.



ये भी पढ़ें- यूपी में अब तक कोरोना के 11 केस पॉजिटिव मिले- स्वास्थ्य मंत्री
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज