Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Crime in UP : बड़े भाई का मर्डर कर लिया पत्नी से अवैध संबंधों का बदला, छोटे भाई समेत दो गिरफ्तार

    बड़े भाई की कनपटी में गोली मारकर की गई थी हत्या. छोटा भाई गिरफ्तार.
    बड़े भाई की कनपटी में गोली मारकर की गई थी हत्या. छोटा भाई गिरफ्तार.

    चिटकू यादव को पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था. पुलिस की पूछताछ में उसने हत्याकांड का पूरा सच बताया. फिर पुलिस ने मृतक राकेश रोशन के छोटे भाई मुकेश यादव को धूरीकोट गांव से गिरफ्तार कर लिया.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 30, 2020, 9:42 PM IST
    • Share this:
    चंदौली. रिटायर्ड सैनिक के बेटे राकेश रोशन हत्याकांड का पुलिस ने पर्दाफाश किया है. 28 अगस्त को बसिला गांव के सिवान में कनपटी पर गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी गई थी. हत्या के मुख्य आरोपी (Accused) के रूप में उसके भाई मुकेश यादव को गिरफ्तार (Arrested) किया गया है. हत्या के पीछे भाई की पत्नी से अवैध संबंध बताया जा रहा है. बीते दिनों हत्या में शामिल एक अन्य आरोपी आशुतोष यादव को पुलिस ने मुठभेड़ के बात गिरफ्तार किया था. फिलहाल पुलिस ने मुख्य आरोपी को जेल भेज दिया है और हत्या में शामिल तीसरे आरोपी की तलाश कर रही है.

    पुलिस मुठभेड़ में हाथ आया एक आरोपी

    दरअसल बलुआ थाने का हिस्ट्रीशीटर और वंछित आशुतोष उर्फ चिटकू यादव को पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था. पुलिस की पूछताछ में उसने हत्याकांड का पूरा सच पुलिस को बताया, जिसके आधार पर पुलिस ने मृतक राकेश रोशन के छोटे भाई मुकेश यादव को शुक्रवार को धूरीकोट गांव के मोड़ के पास से गिरफ्तार कर लिया है. इस हत्याकांड का एक अन्य आरोपी अभी गिरफ्त से दूर है.



    फिर सामने आई हत्या की पूरी कहानी
    पुलिस के मुताबिक, पूछताछ में आशुतोष यादव ने बताया कि मुकेश ने अपनी पत्नी के साथ अवैध संबंधों के चलते बड़े भाई को गोली मारी थी. गिरफ्तार अभियुक्त मुकेश 2017 में हत्या के एक मामले में जेल गया था और जनवरी 2020 में जमानत पर बाहर आया. मुकेश के अनुसार, इस दौरान बड़े भाई राकेश का अवैध संबंध उसकी पत्नी से हो गया. एक दिन उसने दोनों को रंगेहाथ पकड़ लिया. जेल में रहने के दौरान मुकेश की दोस्ती बदमाश आशुतोष उर्फ चिटकू से हो गई थी. दोनों छह माह एक ही जेल में रहे थे. ऐसे में मुकेश ने आशुतोष और रामानंद के साथ अपने बड़े भाई को ठिकाने लगाने की योजना बनाई.
    हत्या की योजना के तहत आशुतोष और रामानंद बहाने से राकेश रोशन को उसके घर से बसिला सिवान में ले आए. जिसके बाद उसका भाई मुकेश भी वहां पहुंच गया और शराब पीने के दौरान मुकेश ने अपने बड़े भाई की कनपटी पर गोली मार दी. जिसके बाद मुकेश घर चला आया और आशुतोष व रामानंद फरार हो गए. इस हत्याकांड के 24 घंटे बाद तक शव की शिनाख्त नहीं हो सकी. यहीं नहीं मुख्य हत्यारोपी मुकेश ने शव को पहचानने से भी इनकार कर दिया. लेकिन सोशल मीडिया पर तश्वीर वायरल होने पर परिजनों ने इसकी पहचान की, जिसके बाद से पुलिस घटना की जांच में जुटी है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज