PM मोदी के नाम पर बनाया फर्जी ट्रस्ट, खुद बना स्वयंभू कुलपति और मांगने लगा करोड़ों की जमीन, फिर क्या हुआ पढ़िए

वाराणसी में फर्जीवाड़ा करने वाले ट्रस्ट के अध्यक्ष और प्रबंधक अजय पांडेय, रवींद्रनाथ पांडेय और शहबाज खान गिरफ्तार
वाराणसी में फर्जीवाड़ा करने वाले ट्रस्ट के अध्यक्ष और प्रबंधक अजय पांडेय, रवींद्रनाथ पांडेय और शहबाज खान गिरफ्तार

वाराणसी प्रशासन (Varanasi Administration) की जांच की रडार में फर्जीवाड़े से जुड़े लोग तब आए, जब एक शिकायती पत्र के साथ फाइल डीएम के पास पहुंची.

  • Share this:
वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के नाम पर उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) में फर्जी ट्रस्ट बनाकर बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है. आदर्श नरेंद्र दामोदर दास मोदी जन कल्याणकारी ट्रस्ट (Adarsh Narendra Damodar Das Modi Kalyankari Trust) बनाकर ये फर्जीवाड़ा किया गया. बाकायदा वाराणसी के निबंधन कार्यालय में ये ट्रस्ट रजिस्टर्ड भी कराया गया लेकिन प्रशासन की जांच की रडार में फर्जीवाड़े से जुड़े लोग तब आए, जब एक शिकायती पत्र के साथ फाइल डीएम के पास पहुंची.

सीएम कार्यालय सहित 50 सांसदों को पत्र भी भेजा

दरअसल, इस पूरे फर्जीवाड़े का मास्टरमाइंड वाराणसी के कबीरनगर निवासी अजय पांडेय है. आरओ का काम करने वाले अजय पांडेय ने 14 जुलाई को ट्रस्ट रजिस्टर्ड कराने के बाद पैसा जुटाना शुरू किया. इसके लिए उसने सीएम कार्यालय, डीएम वाराणसी समेत 50 के करीब सांसद और मंत्रियों को पत्र लिखे, पत्र के जरिए उसने दावा किया कि वो आदर्श नरेंद्र दामोदर दास मोदी अंतरराष्ट्रीय विश्वविदयालय खोलना चाहता है, जिसका वह कुलपति है. इसके लिए उसने वाराणसी के पिंडरा तहसील में करीब 190 बीघा जमीन और करीब 1000 करोड़ आर्थिक अनुदान की भी मांगी की. मांग नहीं करने पर शिकायत करने की बात भी सामने आई.



डीएम के पास पहुंची फाइल तो शुरू हुई जांच
अजय के इसी पत्र पर डीएम का माथा ठनका और उन्होंने निबंधक सदर द्वितीय हरीश चतुर्वेदी को जांच सौंपी. जांच में इस फर्जीवाड़े की परत दर परत सच्चाई सामने आई है. फिलहाल पुलिस ने निबंधक दितीय हरीश चतुर्वेदी की तहरीर पर कैंट थाने में ट्रस्ट में शामिल 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. इसमे टस्ट के अध्यक्ष और प्रबंधक अजय पांडेय, रवींद्रनाथ पांडेय और शहबाज खान को गिरफ्तार कर लिया गया है.

इनके खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

शेष आरोपियों की तलाश में 3 टीमें बनाकर दबिश दी जा रही है. जिन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है, उनमे अजय पांडेय, उसके चाचा रवींद्रनाथ व दोस्त शाहबाज खान के अलावा वाराणसी का प्रदीप कुमार सिंह, नवलपुर बसही का सोनू कुमार गुप्ता, महागांव गरथमा का विकास मिश्रा, सरसौली कैंट की प्रिया श्रीवास्तव, हुकुलगंज कैंट का अनिल, अनेई की रंजीता सिंह और बलिया के बेलहरी का अविनाश सिंह भी शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज