• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • UP: कोरोना को मात देने के लिए PPE किट पहनकर बेच रहा है मशहूर बनारसी पान

UP: कोरोना को मात देने के लिए PPE किट पहनकर बेच रहा है मशहूर बनारसी पान

PPE किट पहनकर बेच रहा है मशहूर बनारसी पान

PPE किट पहनकर बेच रहा है मशहूर बनारसी पान

विकास चौरसिया बताते हैं कि वे अपने अन्य पान विक्रेता भाइयों को भी संदेश दे रहें हैं कि अगर पीपीई किट (PPE Kit) न पहन सकें तो पूरी सावधानी के साथ मास्क, ग्लव्स और फेस शील्ड पहनकर पान बेचें.

  • Share this:
वाराणसी. पूरा देश कोरोना (Coronavirus) के खात्मे की लड़ाई में जुटा हुआ है. आम हो या खास, सभी लोग अपने-अपने तरीके से इस जंग में जिम्मेदारी निभा रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM (Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) में अलग-अलग तस्वीर देखने को मिल रही हैं. इसी कड़ी में अपने पान के लिए मशहूर बनारस में एक पान विक्रेता का अंदाज भी बदला हुआ नजर आ रहा है. जहां पान विक्रेता पीपीई (PPE) किट पहनकर पान बेचा जा रहा है. वाराणसी के लंका इलाके में स्थित है स्वास्तिक तांबुल भंडार. इसके मालिक विशाल चौरसिया जो पीपीई किट पहनकर पान बेच रहे हैं. वे दुकान आते हैं, इसके बाद पूरी दुकान सेनिटाइज होती है. फिर विशाल पीपीई किट पहनते हैं. इसके बाद हाथों में ग्लब्स और फिर पान के पत्ते की कांट छांट हो या फिर कत्थे के लोटे का घोंटना.

पान में चूना लगाना हो या फिर पैकिंग, सारे काम उसी अंदाज में लेकिन पीपीई किट पहनकर. विशाल अपने यहां किसी को पान खाने के लिए नहीं देते. बल्कि उसी पारंपरिक अंदाज में पत्ते में पान को पैक करके घर जाकर खाने की सलाह देते हैं. बदले में जो पैसे मिलते हैं, उसे सेनिटाइज करते हैं. हर दो दिन में पीपीई किट बदल देते हैं. हर दो घंटे में ग्लव्स और मास्क बदल देते हैं. खास बात ये कि इस तौर तरीके से विशाल का खर्चा जरूर बढ़ गया लेकिन उन्होंने पान के रेट नहीं बढ़ाया.



ये भी पढ़ें- इकबाल अंसारी ने PM ओली को दिया जवाब, कहा- हनुमान जी का गदा चला तो तबाह हो जाएगा नेपाल

विकास चौरसिया बताते हैं कि वे अपने अन्य पान विक्रेता भाइयों को भी संदेश दे रहें हैं कि अगर पीपीई किट न पहन सकें तो पूरी सावधानी के साथ मास्क, ग्लव्स और फेस शील्ड पहनकर पान बेचें. उनका कहना है कि रोजमर्रा की जिंदगी में हम सभी कितना रुपए खाने पीने में खर्च कर देते हैं. ऐसे में कोरोना से बचाव के लिए थोड़ा बहुत पैसा ज्यादा खर्च हो गया तो क्या. जान है तो जहान है. घर में बच्चों की सुरक्षा पैसे से ज्यादा जरूरी है.

विशाल की दुकान पर पान के शौकीन जब पहुंच रहे हैं तो उनके इस अंदाज को देखकर चौंक जा रहे हैं. स्थानीय लोग भी इस पान की दुकान में दिलचस्पी ले रहे हैं. फिलहाल कोरोनाकाल में ऐसा काम करना किसी चुनौती से कम नहीं है, लेकिन यह पान वाला मिसाल पेश कर रहा है. यहां पहुंचने वाले अधिकतर ग्राहक विशाल का वीडियो और फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर डाल रहे हैं.पान विक्रेता विशाल चौरसिया के इस तरीके को लोग पसंद कर रहे हैं. विशाल का कहना है कि जब हमारे प्रधानमंत्री इतना प्रयास कर रहे हैं तो उनके संसदीय क्षेत्र के लोगों को भी ऐसी पहल कर आगे आना चाहिए तो कोरोना का दुश्मन नंबर एक बनना चाहिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज