होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /वाराणसी में आई गंगा की बाढ़ से किसानों में हाहाकार, लाखों की फसल बर्बाद

वाराणसी में आई गंगा की बाढ़ से किसानों में हाहाकार, लाखों की फसल बर्बाद

Varanasi News: कृषक अशोक ने बताया कि किसानी ही उनके परिवार की आजीविका का प्रमुख साधन है. लेकिन अब सब कुछ बाढ़ की बर्बादी ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

बनारस में बाढ़ से किसानों की फसलें बर्बाद
पीड़ित किसानों ने की मुआवजे की मांग

रिपोर्ट: अभिषेक जायसवाल

वाराणसी: बनारस में बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है. बाढ़ से तबाही के बीच सबसे बुरे हालात किसानों के हैं. वाराणसी के रमना गांव के कई ऐसे किसान हैं, जिन्होंने बाढ़ में अपना सब कुछ खो दिया. इन किसानों ने पहले कर्ज लेकर खेती की और जब फसल की कटाई का समय आया तो गंगा (Ganga) में आई उफान के कारण सब कुछ बाढ़ में समा गया. जिससे किसानों की फसल पूरी तरह बर्बाद हो गयी.

गांव की किसान नगीना ने बताया कि लगान पर ढाई बीघा जमीन लेकर उन्होंने सेम और लौकी की खेती की थी. इसके लिए उन्होंने कीटनाशक दवा की दुकान से 30 हजार का सामान भी उधार लिया था. उन्होंने बताया कि वो अपने करीबियों से कर्ज लेकर खेती की थी, लेकिन अब बाढ़ के कारण नगीना का सब कुछ तबाह हो गया है. नगीना ने बताया कि इस बाढ़ में करीब ढाई से तीन लाख रुपये का नुकसान हुआ है. इस नुकसान के बाद उनका परिवार भी मुसीबतों से घिर गया है. ऐसे ही हालातों से गांव के अशोक पटेल और भी दूसरे किसान जूझ रहे हैं. बाढ़ के कारण गांव के किसानों की स्थिति दयनीय हो गई है.

आपके शहर से (वाराणसी)

वाराणसी
वाराणसी

अब मुआवजे की आस
कृषक अशोक ने बताया कि किसानी ही उनके परिवार की आजीविका का प्रमुख साधन है. लेकिन अब सब कुछ बाढ़ की बर्बादी में समा गया है. रमना गांव के प्रधान प्रतिनिधि अमित पटेल ने बताया कि गंगा में बाढ़ के कारण गांव की सैकड़ों बीघा खेती बर्बाद हो गयी है. अफसरों ने भी गांव का मुआयना किया है लेकिन मुआवजा किसानों को मिलेगा ये नहीं अभी तय नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि अब मुआवजे की आस में ही किसान खुद को सांत्वना दे रहे हैं.

तटबंध बनाने की मांग
किसानों ने मांग की है सरकार की ओर से उन्हें उनके बर्बादी का मुआवजा मिले. इसके साथ ही गांव के लोगों की मांग है कि वहां तटबंध बनाया जाए. जिसके कारण गांव में बाढ़ का पानी न आए और किसानों की फसल बच जाए. इस साल आई बाढ़ से किसानों की पूरी खेती बर्बाद हो गई. किसानों की आस अब सरकार के मुआवजे पर टिकी है.

Tags: Banaras news, Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Aditya Nath, Uttarpradesh news, Varanasi news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें