Home /News /uttar-pradesh /

UP: चंदौली में दबंग पूर्व ब्लॉक प्रमुख सहित 3 लोगों पर FIR, गैंगरेप के बाद हत्या का आरोप

UP: चंदौली में दबंग पूर्व ब्लॉक प्रमुख सहित 3 लोगों पर FIR, गैंगरेप के बाद हत्या का आरोप

चंदौली में दबंग पूर्व ब्लॉक प्रमुख सहित 3 लोगों पर FIR (File photo)

चंदौली में दबंग पूर्व ब्लॉक प्रमुख सहित 3 लोगों पर FIR (File photo)

बबुरी थानाध्यक्ष (SHO) सत्येंद्र विक्रम सिंह का कहना है कि किशोरी की मौत के मामले में पूर्व प्रमुख शिवेंद्र सिंह, अजय पाठक और एक अज्ञात के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा (FIR) दर्ज किया गया है. पुलिस मामले की विवेचना कर रही है.

चंदौली. वाराणसी से सटे चंदौली (Chandauli) जिले के बबुरी थाना क्षेत्र निवासी एक नाबालिग की मौत के मामले में न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने चकिया के पूर्व ब्लॉक प्रमुख शिवेंद्र सिंह सहित 3 लोगों पर हत्या, सामूहिक दुष्कर्म सहित अन्य संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. रसूखदार पूर्व ब्लॉक प्रमुख के खिलाफ सीधी कार्रवाई से पुलिस कतरा रही थी. लेकिन पॉक्सो कानून के तहत गठित चंदौली की विशेष अदालत के आदेश पर पुलिस को झुकना पड़ा और बबुरी थाने में पूर्व प्रमुख शिवेंद्र प्रताप उसके करीबी अजय पाठक और एक अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

बता दें कि 12 जून को बबुरी थाना क्षेत्र निवासी किशोरी घर से निकली लेकिन रात तक वापस नहीं लौटी. परिजनों के अनुसार, सोनभद्र जिले की सुकृत पुलिस ने फोन कर बताया कि किशोरी गंभीर अवस्था में मिली है. उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. बगैर पोस्टमार्टम के किशोरी के शव को प्रवाहित कर दिया गया. इस मामले में पुलिस और चिकित्सकों पर भी आरोप लगे.

मुनव्वर राणा के बयान पर BJP का पलटवार, योगी के मंत्री बोले- पूरी तरह सुरक्षित है UP

पुलिस पर हीलाहवाली का आरोप लगा जबकि सोनभद्र के सरकारी चिकित्सक पर आरोप है कि बगैर पोस्टमार्टम उसने मौत का कारण जहर का सेवन बताया. किशोरी के दादा ने आरोप लगाया कि उसकी पोती अजय पाठक के यहां झाडू पोछा करने जाती थी. उस दिन भी वह अजय पाठक के घर ही गई थी. लेकिन वहां से सोनभद्र कैसे पहुंची यह रहस्य है. यह भी बताया कि दोनों आरोपित पूर्व प्रमुख और अजय पाठक अपने वाहन से किशोरी का शव लाने सोनभद्र गए थे. किशोरी के शव पर भूसा लगा था, जिससे साफ था कि उसकी मौत स्वाभाविक नहीं थी.

आरोपियों के खिलाफ जांच जारी- SHO
आरोप यह भी कि सामूहिक दुष्कर्म के बाद किशोरी को जहर दिया गया था. पीड़ित परिवार ने थाने से लेकर पुलिस के आलाधिकारियों तक गुहार लगाई लेकिन ऊंचे रसूख के चलते आरोपितों के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. अंत में मृतका के दादा ने न्यायालय में गुहार लगाई. बबुरी थानाध्यक्ष सत्येंद्र विक्रम सिंह का कहना है कि किशोरी की मौत के मामले में पूर्व प्रमुख शिवेंद्र सिंह, अजय पाठक और एक अज्ञात के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस मामले की विवेचना कर रही है. इसके बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी.

Tags: BJP, Chandauli, CM Yogi, Crime Against Child, Girl murder, Up crime news, UP police, Yogi government

अगली ख़बर