वाराणसी: मॉल में अंधाधुंध फायरिंग, दो लोगों की मौत, हमलावरों में विद्यापीठ का छात्र शामिल
Varanasi News in Hindi

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कैंट थाना क्षेत्र के जेएचवी मॉल में डिस्काउंट को विवाद हुआ था. जिसके बाद आरोपियों ने कैश काउंटर पर बैठे लोगों पर गोलियां चला दी.

  • Share this:
वाराणसी के अति संवेदनशील कैंट थाना क्षेत्र स्थित जेएचवी मॉल में दबंगों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. जिसमें ब्रांडेड कपड़ा कंपनी के दो कर्मचारियों की मौत हो गई. जबकि गंभीर हालत में दो घायलों को बीएचयू ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया है. मॉल के अंदर फायरिंग से मॉल प्रबंधन पर भी बड़ा सवाल खड़ा हो गया है.

मिली जानकारी के मुताबिक, वाराणसी के कैंट क्षेत्र स्थित जेएचवी मॉल में कपड़ों के शोरूम में बुधवार को दोपहर के बाद ताबड़तोड़ फायरिंग हुई. गोलीबारी में शोरूम के अंदर मौजूद दो लोगों की मौत हो गई. जबकि दो लोग घायल हो गए. कुल 15 राउंड फायरिंग हुई. वहीं मौके से 13 खोखे बरामद हुए.  दोनों घायलों को मलदहिया स्थित सिंह मेडिकल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, घायलों के नाम सेवापुरी के गोराई निवासी विशाल सिंह (26) और गायघाट निवासी चंदन शर्मा (31) बताया गए हैं. दोनों के बाएं पैर में गोली लगी है. वहीं अस्पताल में गोपी और सुनील की मौत हो गई.



वहीं घायल प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि गोली मारने वालों में एक विद्यापीठ का छात्र था, जिसका नाम आलोक उपाध्याय है. घायल ने बताया कि आज हमला करने वाले लोग पहले भी उनके साथ मारपीट कर चुके थे. वहीं घटना के वक्त मॉल में मौजूद प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि फायरिंग के बाद दबंग मॉल में असलहा लहरा रहे थे.
बताया जाता है कि कपड़े खरीदने के दौरान डिस्काउंट को लेकर विवाद हुआ था और मामला हाथापाई के बाद फायरिंग तक जा पहुंचा. सूचना पाकर एसएसपी आनंद कुलकर्णी और आईजी रेंज विजय कुमार मीणा भी जेएचवी मॉल पहुंचे. एहतियातन जेएचवी मॉल को खाली करा लिया गया है. पुलिस बल ने सीसीटीवी फुटेज खंगालने के साथ सुरक्षा कारणों से अलर्ट जारी कर दिया है.

(इनपुट: उपेन्द्र द्विवेदी)

ये भी पढ़ें:

स्टैच्यू आॅफ यूनिटी पर बोलीं मायावती- बहुजन समाज से माफी मांगें बीजेपी और आरएसएस

जानिए अखिलेश ने क्यों कहा- सीएम योगी कमाल के हैं, जो बोलते हैं, अच्छा बोलते हैं

खून का काला कारोबार: सामने आया एक बुजुर्ग, कहा- मिलावटी खून चढ़ाने से हुई बेटे की मौत

हाशिमपुरा नरसंहार में 16 पीएसी जवानों को उम्रकैद, 42 लोगों की हुई थी हत्या
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज