• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Pitrapaksha 2021: काशी के इस तीर्थ स्थल पर प्रेत योनि से मिलती है मुक्ति,गंगा से पहले हुआ था उद्भव

Pitrapaksha 2021: काशी के इस तीर्थ स्थल पर प्रेत योनि से मिलती है मुक्ति,गंगा से पहले हुआ था उद्भव

Kashi

Kashi Pichash mochan Kund

भोले की नगरी काशी (Kashi) को मोक्ष का शहर कहा जाता है. ऐसी मान्यता है कि काशी में मृत्यु मात्र से ही मोक्ष की प्राप्ति होती है.

  • Share this:

    भोले की नगरी काशी (Kashi) को मोक्ष का शहर कहा जाता है. ऐसी मान्यता है कि काशी में मृत्यु मात्र से ही मोक्ष की प्राप्ति होती है. इसी काशी के एक ऐसा मोक्ष का द्वार भी है जहां प्रेत योनि के साथ ही अकाल मौत के शिकार लोगो को भी मोक्ष मिल जाता है. इसके लिए यहां विशेष अनुष्ठान होता है जो सिर्फ और सिर्फ काशी के इसी तीर्थ स्थल पर किया जाता है.

    काशी के उत्तरी छोर पर अति प्राचीन पिचाश मोचन (Pichash Mochan) कुंड है.कहते है इस मोक्ष तीर्थ स्थल का उद्भव गंगा (Ganga) के धरती पर आने से पूर्व हुआ था. काशी के इस तीर्थ स्थल पर त्रिपिंडी श्राद्ध की किया जाता है. मान्यता है कि यहां त्रिपिंडी श्राद्ध से पितरों को प्रेत योनि और अकाल मौत से मरने के बाद मुक्ति मिल जाती है.

    देशभर से आते हैं भक्त
    यही वजह है पितृपक्ष (pitrapaksha) में यहां लोगो की भीड़ होती है. त्रिपिंडी श्राद्ध के अलावा पिंड दान के लिए दूर-दूर से लोग यहां आते हैं. देश भर में सिर्फ काशी का यही एक मात्र ऐसा तीर्थ स्थल जहां पर यह त्रिपिंडी श्राद्ध किया जाता है, जिससे पितरों मोक्ष मिल जाता है.

    प्रेत बाधा से मिलती है मुक्ति
    त्रिपिंडी श्राद्ध में इस तीर्थ स्थल पर मिट्टी के तीन कलश की स्थापना की जाती है. जो शिव,विष्णु और ब्रह्मा के स्वरूप में लाल, काले और सफेद झंडों से प्रतिकमान होते हैं. सात्विक, राजस, और तामस इन तीन तरह की प्रेत बाधाएं होती है. त्रिपिंडी श्राद्ध से इन तीनों तरह की बाधाओं से पितरों को मुक्ति दिलाती है. गरुण पुराण में भी काशी के पिशाच मोचन को मोक्ष तीर्थ बताया गया है. पिचाश मोचन के तीर्थ पुरोहित मुन्ना महाराज ने बताया कि भगवान शंकर ने अकाल मृत्यु से मुक्ति के लिए इस कुंड में पूजा के लिए गरुण से जल देने का आदेश दिया था. यही वजह है कि यहां श्राद्ध और तर्पण से पितरों को मुक्ति मिल जाती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज