Home /News /uttar-pradesh /

gyanvapi masjid case wuzu khana seal after court orders where shivling reportedly found nodark

Gyanvapi Masjid: शिवलिंग मिलने के दावे के बाद ज्ञानवापी के वजू खाने को प्रशासन ने किया सील, CRPF रहेगी तैनात

 ज्ञानवापी मस्जिद में 'शिवलिंग' वाली जगह को सील कर दिया गया है.

ज्ञानवापी मस्जिद में 'शिवलिंग' वाली जगह को सील कर दिया गया है.

Gyanvapi Masjid Case: ज्ञानवापी मस्जिद के वजू खाने को कोर्ट के आदेश पर प्रशासन ने सील कर दिया है. हिंदू पक्ष ने वजू खाने के तालाब में 'शिवलिंग' मिलने का दावा किया है. इसके साथ सीआरपीएफ की टीम मौके पर तैनात कर दी गई है. वैसे ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी परिसर के सर्वे के खिलाफ ज्ञानवापी मस्जिद प्रबंधन की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को सुनवाई करेगा.

अधिक पढ़ें ...

वाराणसी. यूपी के वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का काम तीन दिन की कवायद के बाद पूरा हो गया है. हिंदू पक्ष ने दावा किया है कि नंदी के मुख के सामने मस्जिद के वजू खाने से 12 फीट 8 इंच का शिवलिंग मिला है. इसके बाद कोर्ट ने शिवलिंग वाले एरिया को सील करने का आदेश दिया था. वहीं, सोमवार को देर शाम जिला प्रशासन की टीम ने वजू खाने वाले एरिया को सील कर दिया है. दरअसल हिंदू पक्ष के वकील हरिशंकर जैन ने अहम साक्ष्यों को संरक्षित और सुरक्षित करने की याचिका दी थी. इसी याचिका के बाद सिविल जज (सीनियर डिवीजन) रवि कुमार दिवाकर के आदेश पर वजू खाने वाली जगह को सील किया गया है.

बहरहाल, ज्ञानवापी मस्जिद के वजू खाने को कोर्ट के आदेश पर सील करने की कार्रवाई के दौरान एडीएम प्रोटोकॉल मौके पर मौजूद रहे. वहीं, वजू खाने के पास सीआरपीएफ की तैनाती कर दी गई है, जो कि अब 24 घंटे निगरानी करेगी. जबकि वजू खाने को सील करने के दौरान पुलिस और सीआरपीएफ का पुख्‍ता इंतजाम किया गया था, ताकि कोई बाधा न डाल सके.

हिंदू पक्ष ने किया शिवलिंग मिलने का दावा
इससे पहले हिंदू पक्ष के अधिवक्ता मदन मोहन यादव ने बताया कि ज्ञानवापी परिसर में मिले शिवलिंग को सुरक्षित करने की मांग पर सुनवाई करते हुए सिविल जज (सीनियर डिवीजन) रवि कुमार दिवाकर ने कहा कि कोर्ट कमीशन की कार्रवाई के दौरान मस्जिद परिसर में कथित तौर पर शिवलिंग का मिलना महत्वपूर्ण साक्ष्य है. यादव के मुताबिक, अदालत ने पुलिस कमिश्नरेट वाराणसी और सीआरपीएफ कमांडेंट को सील किए जाने वाले स्थान को संरक्षित और सुरक्षित करने की जिम्मेदारी सौंपी है. उन्होंने बताया कि अदालत ने जिलाधिकारी को निर्देशित किया है कि जहां शिवलिंग मिलने का दावा किया गया है, उस स्थान पर लोगों का प्रवेश वर्जित कर दें और मस्जिद में केवल 20 मुसलमानों को नामाज अदा करने की इजाजत दें. बता दें कि सर्वे दल को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में नंदी की प्रतिमा के सामने वजू खाने (मस्जिद के अंदर वह जगह, जहां लोग नमाज पढ़ने से पहले हाथ, पैर और मुंह धोते हैं) के पास शिवलिंग मिला है.

ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर सोमवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू हुई, लेकिन वह पूरी नहीं हो सकी. अब अगली सुनवाई 20 मई को दोपहर 12 बजे शुरू होगी. इसके अलावा इसी मामले की सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को सुनवाई करेगा. ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी परिसर के सर्वेक्षण के खिलाफ ज्ञानवापी मस्जिद प्रबंधन ने याचिका दाखिल की है.

Tags: Gyanvapi Masjid Survey, Gyanvapi Mosque

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर