Home /News /uttar-pradesh /

gyanvapi masjid dispute hearing not completed in allahabad high court today nodark

ज्ञानवापी मस्जिद विवाद: इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज पूरी नहीं हो सकी सुनवाई, जानें वजह

इलाहाबाद हाईकोर्ट में सोमवार को हिंदू पक्ष की बहस पूरी नहीं हो सकी.

इलाहाबाद हाईकोर्ट में सोमवार को हिंदू पक्ष की बहस पूरी नहीं हो सकी.

Gyanvapi Masjid Dispute: ज्ञानवापी मस्जिद विवाद मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज सुनवाई पूरी नहीं हो सकी. अब इस मामले की सुनवाई 20 मई को दोपहर 12 बजे से शुरू होगी. वहीं, हिंदू पक्ष ने दलील देते हुए कहा कि वाराणसी में सर्वे के दौरान कोर्ट कमीशन को मस्जिद के तालाब से बड़े आकार का शिवलिंग मिला है. इसी आधार पर एएसआई से खुदाई कराकर सर्वेक्षण कराने का आदेश जारी किया जाए.

अधिक पढ़ें ...

प्रयागराज/वाराणसी. ज्ञानवापी मस्जिद विवाद मामले में आज इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई पूरी नहीं हो सकी. इसके साथ कोर्ट ने अब इस मामले की सुनवाई के लिए अगली तारीख 20 मई तय की है. जबकि सुनवाई दोपहर 12 बजे से शुरू होगी. वहीं, सोमवार को हुई सुनवाई में स्वयंभू भगवान विशेश्वर यानी हिंदू पक्ष ने दलीलें पेश की. इस दौरान हिंदू पक्ष की तरफ से कोर्ट को यह जानकारी दी गई कि वाराणसी में सर्वे के दौरान कोर्ट कमीशन को मस्जिद के तालाब से बड़े आकार का शिवलिंग मिला है. इसी आधार पर एएसआई से खुदाई कराकर सर्वेक्षण कराने का आदेश जारी करने की मांग की गई है. ज्ञानवापी मस्जिद विवाद की सुनवाई इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस प्रकाश पाडिया की सिंगल बेंच में हुई है.

ज्ञानवापी विवाद को लेकर हाईकोर्ट में आज की सुनवाई में हिंदू पक्ष की बहस पूरी नहीं हो सकी है. वहीं, ज्ञानवापी मस्जिद की इंतजामिया कमेटी ने इस मामले की सुप्रीम कोर्ट में कल होने वाली सुनवाई का हवाला देकर इलाहाबाद हाईकोर्ट से आज सुनवाई नहीं किए जाने की अपील की थी. हालांकि कोर्ट ने इंतजामिया कमेटी की यह अपील मंजूर नहीं की और सोमवार को करीब एक घंटे तक हुई सुनवाई का दौर चला. इस दौरान स्वयंभू भगवान विश्वेश्वर विराजमान की तरफ से तमाम दलीलें पेश की गईं.

20 मई को भी पहले हिंदू पक्ष की सुनवाई होगी पूरी
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद विवाद की सुनवाई की अगली तारीख 20 मई तय की है. इस दौरान दोपहर 12 से शुरू होने वाली सुनवाई में सबसे पहले हिंदू पक्ष अपनी बची हुई बहस पूरी करेगा. इसके बाद दोनों मुस्लिम पक्षकार अपनी दलीलें पेश करेंगे. ज्ञानवापी मस्जिद की इंतजामिया कमेटी और यूपी सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड इस केस में मुस्लिम पक्षकार हैं. उसी दिन समय होने पर यूपी सरकार का पक्ष भी रखा जाएगा. यूपी सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अधिवक्ता पुनीत कुमार गुप्ता ने उम्मीद जताई है कि अगली सुनवाई पर सभी पक्षों की बहस पूरी हो जाएगी और कोर्ट जजमेंट रिजर्व कर सकती है. गुप्ता के मुताबिक, इस मामले में अंजुमन इंतजामिया मस्जिद कमेटी और सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की ओर से कई याचिकाएं दाखिल हैं. दो याचिकाओं में वाराणसी जिला कोर्ट में वर्ष 1991 में दाखिल वाद की पोषणीयता को चुनौती दी गई है. इन याचिकाओं में यह मांग की गई है कि 1991 के प्लेसेज ऑफ वरशिप एक्ट के तहत ये याचिकाएं नहीं दाखिल हो सकती हैं. यह भी कहा गया है कि इस एक्ट के तहत अयोध्या को छोड़कर किसी भी दूसरे धार्मिक स्थल के स्वरूप में परिवर्तन नहीं किया जा सकता है. किसी भी धार्मिक स्थल का जो स्वरूप देश की आजादी के समय 15 अगस्त 1947 को था वह बरकरार रहेगा.

ज्ञानवापी मस्जिद के एक हिस्से में शिवलिंग मिलने का दावा
उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले की एक अदालत ने सोमवार को जिला प्रशासन को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के उस हिस्से को सील करने का निर्देश दिया, जहां एक शिवलिंग मिलने का दावा किया गया है. हिंदू पक्ष के अधिवक्ता मदन मोहन यादव ने बताया कि ज्ञानवापी परिसर में मिले शिवलिंग को सुरक्षित करने की मांग पर सुनवाई करते हुए सिविल जज (सीनियर डिवीजन) रवि कुमार दिवाकर ने कहा कि कोर्ट कमीशन की कार्रवाई के दौरान मस्जिद परिसर में कथित तौर पर शिवलिंग का मिलना महत्वपूर्ण साक्ष्य है. अदालत ने जिला मजिस्ट्रेट वाराणसी को उस हिस्से को सील करने का आदेश दिया, जहां शिवलिंग मिलने का दावा किया गया है.

यादव के मुताबिक, अदालत ने पुलिस कमिश्नरेट वाराणसी और सीआरपीएफ कमांडेंट को सील किए जाने वाले स्थान को संरक्षित और सुरक्षित करने की जिम्मेदारी सौंपी है.उन्होंने बताया कि अदालत ने जिलाधिकारी को निर्देशित किया है कि जहां शिवलिंग मिलने का दावा किया गया है, उस स्थान पर लोगों का प्रवेश वर्जित कर दें और मस्जिद में केवल 20 मुसलमानों को नामाज अदा करने की इजाजत दें. इससे पहले, यादव ने कहा था कि सर्वे दल को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में नंदी की प्रतिमा के सामने वजू खाने (मस्जिद के अंदर वह जगह, जहां लोग नमाज पढ़ने से पहले हाथ, पैर और मुंह धोते हैं) के पास शिवलिंग मिला है

Tags: Allahabad high court, Gyanvapi Masjid Survey, Gyanvapi Mosque, Kashi Vishwanath Temple

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर