होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Gyanvapi Case: ज्ञानवापी मस्जिद केस में नया मोड़, हिन्दू पक्षकारों की लड़ाई खुलकर सामने आई

Gyanvapi Case: ज्ञानवापी मस्जिद केस में नया मोड़, हिन्दू पक्षकारों की लड़ाई खुलकर सामने आई

ज्ञानवापी मस्जिद की फाइल फोटो

ज्ञानवापी मस्जिद की फाइल फोटो

Gyanvapi Masjid Case update: श्रृंगार गौरी केस में 5 महिला वादियों में 1 महिला वादी राखी सिंह के पैरोकार जितेंद्र सिंह ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- रवि पांडेय, वाराणसी

वाराणसी: ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी केस में हिन्दू पक्षकारों की आपस की लड़ाई अब खुलकर सामने आ गयी है. ताजा मामला 5 महिला वादियों में से रेखा आर्या के पैरोकार डॉ सोहन लाल आर्या का है. जिन्होंने राखी सिंह के पैरोकार जितेंद्र सिंह बिसेन पर धमकी देने व जालसाजी का मुकदमा दर्ज कराया है. मकदमा वाराणसी के लक्सा थाने में दर्ज हुआ है.

दरअसल, श्रृंगार गौरी केस में 5 महिला वादियों में 1 महिला वादी राखी सिंह के पैरोकार जितेंद्र सिंह बिसेन ज्ञानवापी सर्वे के बाद ही अलग हो गए. लगातार इनके द्वारा अन्य चार महिला वादियों के खिलाफ आवाज उठाई जा रही है. जिसमें जितेंद्र अलग अलग आरोप लगाते आये हैं. ऐसे में पहली बार ऐसा हुआ है जब अन्य महिला पक्षकारों के तरफ से पैरोकार डॉ सोहन लाल आर्या ने जितेंद्र बहादुर की तरफ जालसाजी का मुकदमा दर्ज कराया है.

आपके शहर से (वाराणसी)

वाराणसी
वाराणसी

जानिए पैरोकार के क्या हैं आरोप

सोहन लाल आर्या का आरोप है कि जितेंद्र सिंह बिसेन द्वारा बताया गया कि नोएडा में उनके एक मित्र का फ्लैट है. जिसे वो किश्त में दिलवा सकते हैं. चूंकि मुकदमे को लेकर दिल्ली आना जाना हो सकता है तो उन्होंने उस फ्लेट के लिए 1 लाख रुपये 11 नवंबर 2021 को आरटीजीएस व 2 लाख रूपये अगले महीने 9 दिसम्बर 2021 उनके एकाउंट में ट्रांसफर किया. सोहन लाल ने बताया कि एक साल बीतने के बाद भी जब फ्लैट की लिखापढ़ी नहीं हुई तो उन्होंने जितेंद्र सिंह बिसेन से अपना रूपया मांगा. जिसके बाद उन्हें ये कहा गया कि रुपये भूल जाओ वरना जान से हाथ गवाना पड़ सकता है.

पुलिस ने किया मकदमा दर्ज

इस धमकी के बाद सोहन लाल आर्या अपने क्षेत्र के पुलिस थाने पर जाकर धमकी व जालसाजी का तहरीर देते हैं और कार्रवाई के लिए पुलिस से मांग करते हैं. जिसके बाद पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल मुकदमा दर्ज कर लिया. ऐसे पुलिस जितेंद्र सिंह बिसेन से जल्द पूछताछ कर सकती है. पुलिस का कहना है कि मामले की जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी.

श्रृंगार गौरी मामले में 5 महिला पक्षकार

श्रृंगार गौरी मामले में 5 महिला पक्षकार हैं. जिनमें सबसे पहले नाम राखी सिंह जो कि जितेंद्र सिंह बिसेन की भतीजी हैं. इसके अलावा रेखा आर्या, लक्ष्मी देवी, सीता साहू, मंजू व्यास हैं. बड़ी बात ये है कि इन सभी महिलाओं ने जितेंद्र सिंह बिसेन द्वारा संचालित विश्व वैदिक सनातम संघ के बैनर तले श्रृंगार गौरी में नियमित दर्शन पूजन का ममाला दर्ज कराया था.

Tags: Gyanvapi Masjid, Varanasi news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें