हाथरस कांड: विश्व हिंदू सेना का एलान- चारों आरोपियों के प्राइवेट पार्ट काटने पर 25 लाख का इनाम

विश्व हिंदू सेना प्रमुख अरुण पाठक ने विवादित बयान दिया है.  (Photo: Video Grab)
विश्व हिंदू सेना प्रमुख अरुण पाठक ने विवादित बयान दिया है. (Photo: Video Grab)

विश्व हिंदू सेना के प्रमुख अरुण पाठक अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं. पिछले दिनों अरुण पाठक और उसके कार्यकर्ताओं ने नेपाल के युवक का सिर मुंडवाया था. जिसके बाद से वाराणसी पुलिस (Varanasi Police) ने अरुण पाठक समेत उनके कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कार्रवाई की थी,

  • Share this:
वाराणसी. उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras Case) में दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप और उसकी जघन्य हत्या की घटना ने देश को एक बार फिर झकझोर दिया है. इस अमानवीय घटना ने एक बार फिर बेटियों के सुरक्षा पर उन तमाम दावों की पोल खोल दी है. इस घटना को सोशल मीडिया से लेकर हर जगह लोग प्रतिक्रिया दे रही हैं, वहीं विपक्ष लगातार योगी सरकार (Yogi Government) पर हमलावर है. मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीएम योगी आदित्यनाथ से बात की है. इस बीच वाराणसी में विश्व हिंदू सेना (Vishwa Hindu Sena) प्रमुख का विवादित बयान सामने आया है. विश्व हिंदू सेना प्रमुख अरुण पाठक (Arun Pathak) ने घटना में शामिल दोषियों के गुप्तांग (Private Part) को काटने के लिए 25 लाख रुपये का इनाम घोषित कर दिया है.

विवादों से पुराना रहा है नाता

बता दें विश्व हिंदू सेना के प्रमुख अरुण पाठक अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं. पिछले दिनों अरुण पाठक और उसके कार्यकर्ताओं ने नेपाल के युवक का सिर मुंडवाया था. जिसके बाद से वाराणसी पुलिस ने अरुण पाठक समेत उनके कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कार्रवाई की थी, जिसमें विश्व हिंदू सेना के 4 कार्यकर्ता गिरफ्तार हुए थे लेकिन प्रमुख अरुण पाठक अब तक पुलिस के गिरफ्त में नही आ पाया.




सोशल मीडिया पर वायरल किया बयान

अब एक बार फिर से अरुण पाठक ने सोशल मीडिया पर अपना बयान वायरल किया है, जिसमें उसने योगी सरकार के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है, साथ ही विवादित बयान भी दिया है. अरुण पाठक ने कहा है कि सरकार ने जिस तरह से लड़की के शव को दाह-संस्कार किया है, वो उचित नही है. जो भी व्यक्ति चारों दोषियों का गुप्तांग (प्राइवेट पार्ट) काटेगा, उसे विश्व हिंदू सेना 25 लाख रुपये देगी.

अरुण पाठक ने अपने इस बयान को सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर के माध्यम से वायरल किया है. जिसमें सरकार समेत पुलिस वालों पर गम्भीर आरोप लगाया है. बता दें कि अरुण पाठक अभी भी फरार है और वाराणसी पुलिस उन्हें गिरफ्तारी के लिए तलाश कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज