राशिद के जन्म के कुछ दिन बाद ही मां ने कर लिया था दूसरा निकाह, मौसी की करांची में हुई है शादी
Varanasi News in Hindi

राशिद के जन्म के कुछ दिन बाद ही मां ने कर लिया था दूसरा निकाह, मौसी की करांची में हुई है शादी
मोहम्मद राशिद का परिवार फिलहाल वाराणसी में स्थित BHU के पास ही में रह रहा है. (फाइल फोटो)

आर्मी इंटेलिजेंस (MI ) की टीम और यूपी एटीएस (ATS ) की टीम ने मोहम्मद राशिद को 16 जनवरी को उसके दो अन्य सहयोगियों के साथ तफ्तीश के लिए हिरासत में लिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 30, 2020, 12:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के साथ कनेक्शन मामले में तफ्तीश के दौरान केन्द्रीय जांच एजेंसी एनआईए (NIA) ने उतर प्रदेश के लखनऊ, मुगलसराय और चंदौली सहित कई स्थानों पर छापेमारी की. रविवार रात करीब 9 बजे तक जांच एजेंसी से जुड़े अधिकारी मौके पर सबूतों को खंगालने में जुटे हुए थे. दरअसल, ये छापेमारी का मामला चंदौली के रहने वाले मोहम्मद राशिद (Mohammad Rashid) से जुड़ा हुआ है, जिस पर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के लिए काम करने का आरोप है. वह ISI एजेंट से सीधे तौर पर संपर्क में था. इस मामले में जांच एजेंसी पिछले काफी समय से उसके ऊपर और उससे संबंधित कई संदिग्ध लोगों पर नजर रखी हुई थी.  उसके बाद मौका देखते ही जांच एजेंसी के अधिकारियों ने रविवार को अहले सुबह छापेमारी (Raid) के मामले को अंजाम दे दिया. छापेमारी की प्रक्रिया काफी देर शाम तक चलती रही. जांचकर्ताओं को मौके से काफी महत्वपूर्ण जानकारियां और सबूत मिले हैं. उसी को आधार बनाते हुए आने वाले दिनों में कई और बड़े ऑपरेशन को एनआईए की टीम अंजाम दे सकती है.

एनआईए (NIA) मुख्यालय में आईजी पद पर तैनात आलोक मित्तल के मुताबिक, लखनऊ के गोमती नगर इलाके में यूपी एटीएस (ATS) की टीम द्वारा इसी साल 19 जनवरी को एक मामला दर्ज किया गया था. एनआईए की टीम ने उसी मामले को आधार बनाते हुए फिर से 16 मार्च 2020 को मामला दर्ज करके तफ्तीश शुरू कर दी. मुख्य तौर पर चंदौली के चौरहट गांव के रहने वाले मोहम्मद राशिद के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

राशिद का परिवार वाराणसी में
हलांकि, मोहम्मद राशिद का परिवार फिलहाल वाराणसी में स्थित BHU के पास ही में रह रहा है. एनआईए की टीम ने इस मामले में तफ्तीश करते हुए मोहम्मद राशिद को गिरफ्तार किया था. गिरफ्तारी के बाद हुई पूछताछ में कई महत्वपूर्ण जानकारियां मिलने के दो महीने बाद एनआईए की टीम ने ये छापेमारी की है. जांच के दौरान एनआईए की टीम को ये जानकारी मिली थी कि मोहम्मद राशिद पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आएसआई (ISI ) के डिफेंस एजेंट के साथ सीधे तौर पर जुड़ा हुआ है. और वो लागातर भारत के कई संवेदनशील इलाकों और लोकेशन की जानकारी और तस्वीरों को पाकिस्तान भेज रहा था. इसके साथ ही सेना की मूवमेंट सहित अन्य जानकारियों को वो पाकिस्तानी एजेंट को दे रहा था.



16 जनवरी को हिरासत में  लिया था


आर्मी इंटेलिजेंस (MI ) की टीम और यूपी एटीएस (ATS ) की टीम ने मोहम्मद राशिद को 16 जनवरी को उसके दो अन्य सहयोगियों के साथ तफ्तीश के लिए हिरासत में लिया था. हिरासत में लेने के बाद हुई काफी पूछताछ के बाद उस वक्त उसे छोड़ दिया गया था. इस मामले में हमारे आर्मी इंटेलिजेंस की टीम ने बताया कि राशिद मार्च 2019 से पाकिस्तानी एजेंट के संपर्क में था. राशिद के पिता इदरिश मुंबई में पिछले कुछ सालों से रह रहे हैं. राशिद की मां का नाम शहजादी है. अगर पारिवारिक मामलों के ध्यान से देखा जाए तो वो भी थोड़ा सोचने के लिए मजबूर अवश्य कर देता है, क्योंकि राशिद के नाना जब्बार भी चौरहट गांव में ही रहते हैं.

हसीना का निकाह पाकिस्तान के करांची में हुई थी
जब्बार की बड़ी बेटी यानी राशिद की बड़ी मौसी हसीना का निकाह करीब 30 सालों पहले पाकिस्तान के करांची में हुई थी. जबकी दूसरी बेटी शहजादी यानी राशिद की मां का निकाह छित्तूपुर ( वाराणसी ) में ही इदरीश अहमद से हुआ था. राशिद के जन्म के कुछ दिनों के बाद ही शहजादी का तलाक हो गया. इसके बाद शहजादी ने वाराणसी में रहने वाली सुल्तान नाम के एक शख्स से दूसरा निकाह कर लिया. फिर वह अपने बेटे राशिद को वहीं अपने मायके में छोड़कर चली गई. राशिद की प्रारम्भिक पढ़ाई उसके ननिहाल में ही हुई है. उसके बाद वह पढ़ाई- लिखाई छोड़कर एक कारखाने में काम करने लगा था. हलांकि, अब एनआईए की टीम इस मामले में उन तमाम कनेक्शन को खंगालने में जुटी हुई है, जिसमें राशिद का पाकिस्तानी एजेंट होमे का आरोप है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading