Home /News /uttar-pradesh /

Kashi Vishwanath Temple: नवम्बर में है काशी विश्वनाथ के दर्शन का प्लान तो बदल लें डेट्स

Kashi Vishwanath Temple: नवम्बर में है काशी विश्वनाथ के दर्शन का प्लान तो बदल लें डेट्स

मंदिर में जारी निर्माण कार्य.

मंदिर में जारी निर्माण कार्य.

Kashi Viswnath Darshan Plan: अगर आप इस महीने के अंत में बाबा विश्वनाथ (Kashi Viswnath) के दर्शन का प्लान (Plan) बना रहे हैं तो कुछ दिनों के लिए अपना यह प्लान आगे बढ़ा दें. दरअसल श्री काशी विश्वनाथ मंदिर दो दिन के लिए सुबह से शाम तक और एक दिन के लिए पूरे 24 घंटे भक्तों के लिए बंद रहेगा (Will be closed). ये फैसला निर्माणाधीन श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के शेष बचे कार्यों को समय से पूरा करने के लिए लिया गया है.

अधिक पढ़ें ...

वाराणसी. देश दुनिया में आस्था के केंद्र श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में हर रोज हजारों भक्त दर्शन के लिए आते हैं. लेकिन अगर आप इस महीने के अंत में बाबा विश्वनाथ के दर्शन का प्लान बना रहे हैं तो कुछ दिनों के लिए अपना यह प्लान आगे बढ़ा दें. दरअसल श्री काशी विश्वनाथ मंदिर दो दिन के लिए सुबह से शाम तक और एक दिन के लिए पूरे 24 घंटे भक्तों के लिए बंद रहेगा. ये फैसला निर्माणाधीन श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के शेष बचे कार्यों को समय से पूरा करने के लिए लिया गया है. अब केवल फिनिशिंग का काम बाकी है. ऐसे में भक्तों को मशीन और निर्माण कार्यों से कोई दिक्कत न पैदा हो और तेजी से काम को पूरा किया जा सके इसके लिए मंदिर प्रशासन ने ये फैसला लिया है.

29 और 30 नवम्बर आधे दिन, वहीं 1 दिसम्बर को 24 घंटे के लिए रहेगा बंद
गौरतलब है कि अगले महीने 13 दिसंबर को पीएम नरेंद्र मोदी श्रीकाशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण कर सकते हैं. ऐसे में शेष बचे करीब 15 फीसदी काम को मंदिर प्रशासन समय से पूरा कराना चाहता है. सीईओ डॉ. सुनील वर्मा ने बताया कि 29 और 30 नवंबर को मंदिर सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक भक्तों के लिए बंद रहेगा. यानी इस वक्त मंदिर में पूजा अर्चना तो होगी लेकिन भक्तों का प्रवेश वर्जित रहेगा. वहीं एक दिसंबर को मंदिर पूरी तरह से भक्तों के लिए बंद रहेगा. दो दिसंबर को सुबह छह बजे मंदिर भक्तों के लिए खोला जाएगा. बता दें कि विश्वनाथ धाम का 85 फीसदी निर्माण कार्य पूरा हो गया है. शेष बचे 15 फीसदी काम में सिर्फ फिनिशिंग का काम बाकी है.
विश्वनाथ धाम बन जाने से अब गंगा घाट से विश्वनाथ मंदिर तक सीधा रास्ता होने के साथ ही भक्तों के लिए कई सुविधा केंद्र बनाए जा रहे हैं. यही नहीं निर्माण के दौरान मिले मंदिरों को मणिमाला बनाकर यहां स्थापित किया जा रहा है. यानी एक ही जगह शिवभक्तों को सभी देवी देवताओं के दर्शन आसानी से मिल जाएंगे और महादेव का गंगा के रास्ते ईशान कोण से दर्शन भी मिलने लगेगा.

Tags: Kashi Vishwanath, Kashi Vishwanath Temple, Varanasi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर