जानिए वाराणसी में कहां असानी से मिल रहा है रेमडेसिवीर इंजेक्शन, ये कागज हैं जरूरी

वाराणसी जिला प्रशासन ने लोगों को रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ग्ध कराने के लिए कवायद की है. (File pic)

वाराणसी जिला प्रशासन ने लोगों को रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ग्ध कराने के लिए कवायद की है. (File pic)

Varanasi News: डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि अब वाराणसी में किसी भी कोविड संक्रमित मरीज और उसके परिजन को रेमडेसिवीर इंजेक्शन की समस्या नहीं होगी. नियम है कि अधिकतम इंजेक्शन के छह वायल्स ही दिए जाएंगे, जिसमें से एक बार में तीन वायल्स से अधिक नहीं दिया जाएगा.

  • Share this:

वाराणसी. कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत में जिस रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) की क़िल्लत से लोग जूझ रहे थे. जिस रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कालाबाज़ारी की ख़बरें सुर्ख़ियाँ बन रही थीं. वो रेमडेसिवीर इंजेक्शन अब वाराणसी (Varanasi) में सीधे ज़रूरतमंद लोगों आसानी से मिल जाएगा. ये मुमकिन हुआ है, वाराणसी प्रशासन की पहल से. अब कोई भी ज़रूरतमंद केवल कुछ काग़ज़ लेकर वाराणसी कलेक्ट्रेट स्थित राइफल क्लब में पहुंच जाए उसे रेडक्रॉस सोसाइटी, वाराणसी के ज़रिए रेमडेसिवीर इंजेक्शन मिल जाएगा. ये सुविधा सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक रहेगी.

डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि अब वाराणसी में किसी भी कोविड संक्रमित मरीज और उसके परिजन को रेमडेसिवीर इंजेक्शन की समस्या नहीं होगी. इसके लिए अब 14 मई से सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक कलेक्ट्रेट स्थित राइफल क्लब में रेडक्रॉस सोसाइटी, वाराणसी के ज़रिए रेमडेसिवीर इंजेक्शन उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था लागू की गयी है. इसकी ज़िम्मेदारी निबन्धन विभाग के उप निबन्धक (प्रथम) डॉ राजकरन और दो निबन्धन लिपिक रमाशंकर सिंह और सतीश श्रीवास्तव को दी गयी है. इनके साथ-साथ सोसाइटी के पदाधिकारी भी मौजूद रहेंगे

उन्होंने बताया कि यह व्यवस्था 14 मई से शुरू होकर अगले कईं दिनों तक चलेगी. रैमडेसिवीर इंजेक्शन उस दिन की उपलब्धता के आधार पर बांटे जाएगे. इस दवा को अस्पताल में भर्ती मरीज की जीवन रक्षा के लिए सीधे मरीज के परिजन को डॉक्टर के पर्चे और मरीज के आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड के आधार पर दिया जाएगा.

नियम है कि अधिकतम इंजेक्शन के छह वायल्स ही दिए जाएंगे, जिसमें से एक बार में तीन वायल्स से अधिक नहीं दिया जाएगा. दवा की कीमत प्रति वायल 1800 रुपये मरीज के परिजन को राइफल क्लब में बने काउण्टर पर देने होंगे, जिस पर उन्हें दवा उपलब्ध हो जाएगी. सम्बन्धित मरीज के परिजन द्वारा हास्पिटल या डॉक्टर का पर्चा मूल रूप में काउण्टर पर जमा किया जायेगा. परिजनों को मरीज के आधार कार्ड और वोटर आईडी कार्ड की फोटोकापी लेकर आना होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज