Home /News /uttar-pradesh /

Explainer Varanasi:-जानिए क्यों काशी विश्वनाथ मंदिर में VIP दर्शन पर लगी रोक

Explainer Varanasi:-जानिए क्यों काशी विश्वनाथ मंदिर में VIP दर्शन पर लगी रोक

भगवान

भगवान शंकर के धाम श्री काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Dham) में नए साल (New Year) पर रिकॉर्ड तोड़ भक्तों ने दर्शन किया.बीते दो दिनों में करीब 10 लाख भक्तों ने मंदिर में मत्था टेका.मंदिर में भक्तों के रिकॉर्ड तोड़ भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने VIP दर्शन पर रोक लगा दी है.

भगवान शंकर के धाम श्री काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Dham) में नए साल (New Year) पर रिकॉर्ड तोड़ भक्तों ने दर्शन किया.बीते दो दिनों में करीब 10 लाख भक्तों ने मंदिर में मत्था टेका.मंदिर में भक्तों के रिकॉर्ड तोड़ भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने VIP दर्शन पर रोक लगा दी है.

अधिक पढ़ें ...

    वाराणसी: भगवान शंकर के धाम श्री काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Dham) में नए साल (New Year) पर रिकॉर्ड तोड़ भक्तों ने दर्शन किया.बीते दो दिनों में करीब 10 लाख भक्तों ने मंदिर में मत्था टेका.मंदिर में भक्तों के रिकॉर्ड तोड़ भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने VIP दर्शन पर रोक लगा दी है.इसके साथ ही मंदिर प्रशासन ने काशी वासियों से ये अपील भी की है कि सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक लोग दर्शन से परहेज करें.

    दरअसल, 13 दिसम्बर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने विश्वनाथ धाम का लोकार्पण किया था. इसके बाद से देशभर से शिवभक्तों के आने का दौर जारी था.नए साल में दो दिनों में करीब 10 लाख भक्त दर्शन के लिए बाबा धाम पहुंचे.जिसके कारण मंदिर के साथ ही शहर की यातायात व्यवस्था भी चरमरा गई थी.दर्शन करने आए भक्तों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था.जिसको देखते हुए मंदिर प्रशासन ने ये कदम उठाया है.अब देखने की बात होगी कि मंदिर के इस नई व्यवस्था लागू होने के बाद आम श्रद्धालुओं को कितनी राहत मिल पाती है.

    रिपोर्ट- अभिषेक जायसवाल-वाराणसी

    Tags: Kashi Vishwanath Temple, Varanasi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर