• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Navratri 2021: कैलाश से चलकर काशी आई थी मां शैलपुत्री,जहां दर्शन मात्र से ही दूर होते हैं वैवाहिक कष्ट

Navratri 2021: कैलाश से चलकर काशी आई थी मां शैलपुत्री,जहां दर्शन मात्र से ही दूर होते हैं वैवाहिक कष्ट

अटूट

अटूट आस्था का केंद्र है काशी में स्थित मां शैलपुत्री का मंदिर 

वाराणसी में माता शैलपुत्री (Maa Shailputri) का मंदिर है. मान्यता है कि यहां दर्शन से वैवाहिक कष्टों से मुक्ति मिल जाती है.नवरात्रि के पावन पर्व पर मंदिर में श्रद्धालुओं का लगता है तांता

  • Share this:

    वाराणसी: शक्ति उपासना के पर्व नवरात्र (Navratra) की शुरुआत हो गई है. महादेव की नगरी काशी (Kashi) में नवरात्रि का पर्व धूम धाम से मनाया जाता है.अलग-अलग दिन अलग-अलग मंदिरों में देवी के नौ स्वरूप के दर्शन होते हैं. पहले दिन शैलपुत्री देवी के दर्शन का विधान है. वाराणसी में माता शैलपुत्री (Maa Shailputri) का मंदिर है. मान्यता है कि यहां दर्शन से वैवाहिक कष्टों से मुक्ति मिल जाती है. इसके अलावा मां भक्तों की मनचाही मुरादें भी पूरी करती है.यही वजह है कि नवरात्र के पहले दिन यहां भक्तों की भारी भीड़ होती है. देवी के दर्शन के लिए भक्तों के आने का क्रम देर रात से ही शुरू हो जाता है,जो पूरे दिन जारी रहता है. काशी के अलईपुर में मां शैलपुत्री देवी का मंदिर है.

    मंदिर के पुजारी गजेंद्र गोस्वामी ने बताया कि मां पार्वती ने शैलराज हिमालय के यहां पुत्री के रूप में जन्म लिया था. जिन्हें मां शैलपुत्री के नाम से जाना जाता है. भगवान शंकर से नाराज होकर एक बार माता शैलपुत्री काशी चली आई. जिसके बाद भगवान शंकर उन्हें मनाने के लिए आए. लेकिन माता शैलपुत्री को काशी इतना पसन्द आया कि वो काशी में ही विराजमान हो गई.

    मनचाही मुराद होती है पूरी
    नवरात्रि के पहले दिन के अलावा मंगलवार को देवी माता के मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ होती है.ऐसी मान्यता है कि मां के दर्शन मात्र से भक्तों की सभी मनचाही मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है. इसके साथ ही अगर किसी के जीवन में वैवाहिक कष्ट है तो माता के दर्शन मात्र से उसको अपने पारिवारिक दुखों से मुक्ति मिल जाती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज