अपना शहर चुनें

States

पीएम मोदी के गढ़ काशी में मुस्लिम महिलाओं ने खेली होली, CAA के समर्थन में गाया गीत

पीएम मोदी के गढ़ में मुस्लिम महिलाओं ने खेली होली
पीएम मोदी के गढ़ में मुस्लिम महिलाओं ने खेली होली

बता दें कि मुंशी प्रेम चंद के गांव लमही में स्थित विशाल भारत संस्थान में मुस्लिम महिलाएं एकत्रित हुई, जहां पारंपरिक तरीके से सभी ने एक दूसरे को रंग लगाया तो वहीं होली के गीत भी गई.

  • Share this:
वाराणसी. धर्म नगरी काशी में होली की खुमारी चारों तरफ दिखनी शुरू हो गयी है. काशी की होली के रंग में ऐसा भी रंग दिखा, जिसमें गंगा जमुनी एकता का मिशाल पेश किया है. होली के एक दिन पहले मुस्लिम महिलाओं ने एक दूसरे को अबीर लगाकर एकता के संदेश देने वाले गीतों को गाकर होली उत्सव को बड़े ही आनंद में मनाया.

बता दें कि मुंशी प्रेम चंद के गांव लमही में स्थित विशाल भारत संस्थान में मुस्लिम महिलाएं एकत्रित हुई, जहां पारंपरिक तरीके से सभी ने एक दूसरे को रंग लगाया तो वहीं होली के गीत भी गई. इस गीत में जहां पीएम मोदी के लिए बधाई रहा तो वहीं हिन्दू-मुस्लिम एकता का संदेश देने के साथ ही सीएए का समर्थन व तीन तलाक से मुक्ति जैसे बड़े मामले भी शामिल रहे, मुस्लिम महिलाओं के इस कार्यक्रम में हिन्दू महिलाओं ने भी हिस्सा लिया. मुस्लिम महिला फाउंडेशन की अध्यक्ष नाजनीन अंसारी ने सीएए को समर्थन देते हुए नरेंद्र मोदी के लिए बधाई गीत गाई.

नाजनीन अंसारी ने बताया कि हर वर्ष हम मुस्लिम महिलायें होली के उत्सव में शामिल होते हैं और होली के अवसर पर हिन्दू और मुस्लिम महिला मिलकर एक दुसरे को अबीर और गुलाल भी लगाते हैं. गौरतलब है कि बीते दिनों दिल्ली व देश के अन्य इलाकों में सीएए को लेकर जिस तरह से देश का माहौल खराब हुआ था. उसे देखते हुए आज वाराणसी में मुस्लिम महिलाओं ने यह पैगाम दिया कि हिंसा करने से सिर्फ व सिर्फ हमारा ही नुकसान होता है और यह देश हमारा है. इसलिए हमें इससे नफरत नहीं बल्कि प्यार करना चाहिए.



ये भी पढे़ं:
होली पर चढ़ा कोरोना वायरस का खौफ, लखनऊ के बाजार से गायब हुई चाइनीज पिचकारी और रंग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज