• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Neet Exam Solver Gang : वाराणसी पुलिस ने खंगाल ली PK की कुंडली, जानें A to Z

Neet Exam Solver Gang : वाराणसी पुलिस ने खंगाल ली PK की कुंडली, जानें A to Z

पुलिस दबिश की भनक लगते ही पीके अपने आवास से फरार हो गया.

पुलिस दबिश की भनक लगते ही पीके अपने आवास से फरार हो गया.

Gang Leader PK : पीके का असली नाम नीलेश सिंह है. वह कमल वंश नारायण सिंह का बेटा है. बिहार के छपरा जिले के गांव सेंधवा के थाना एकमा का वह मूल निवासी है. फिलवक्त वह बीएसएनल टेलिफोन एक्सचेंज के सामने पाटलिपुत्र पटना में अपने परिवार के साथ चार मंजिला मकान में रहता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

वाराणसी. नीट-यूजी की परीक्षा में सेंधमारी की कोशिश में पकड़ी गई बीएचयू बीडीएस की छात्रा जूली और उसकी मां बबीता के बाद हर रोज नई-नई कड़ी खुलती जा रही है. बिहार का विकास महतो, केजीएमयू के फाइनल वर्ष का छात्र ओसामा, फोटो मेकर राजू और जूली के भाई अभय को भी पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. लेकिन अब तक पुलिस जिस शख्स का सुराग जुटाने में लगी है, वह है पीके. पीके इस पूरे साल्वर गैंग का मुखिया है और उसने अपनी पहचान कभी किसी के सामने नहीं आने दी.

यह चौंकाने वाली बात है कि इतना बड़ा हाईटेक नेटवर्क चलाने वाले पीके को किसी नहीं देखा है. वह न फोन से बात करता है और न प्लेन से सफर करता है. सफर के लिए वह ट्रेन और बस का सहारा लेता है और अपना संदेश पहुंचाने के लिए वह संबंधित गैंग के सदस्य को कोरियर करता है.

पीके ने कॉलोनी में खुद को डॉक्टर बता रखा है

लेकिन वाराणसी पुलिस ने महज दो दिन में नीलेश की पूरी कुंडली खोज ली है. इस पीके का असली नाम नीलेश सिंह है. वह कमल वंश नारायण सिंह का बेटा है. बिहार के छपरा जिले के गांव सेंधवा के थाना एकमा का वह मूल निवासी है. फिलवक्त वह बीएसएनल टेलिफोन एक्सचेंज के सामने पाटलिपुत्र पटना में अपने परिवार के साथ चार मंजिला मकान में रहता है. महंगी गाड़ियों का शौक रखने वाला नीलेश भनक लगते ही परिवार समेत वहां से फरार हो गया है. जिस कॉलोनी में नीलेश रहता है, वहां के लोगों को खुद के डॉक्टर होने की बात कह रखी है.

मूल अभ्यर्थी हिना की भी तलाश जारी

फिलहाल पुलिस पीके की तलाश में जहां एक ओर छापेमारी कर रही है, वहीं दूसरी ओर त्रिपुरा पुलिस से संपर्क करके हिना बिस्वास और उसके परिवार का पता लगाने में जुटी है. हिना ही वह मूल अभ्यर्थी है, जिसके लिए फर्जी अभ्यर्थी बनकर बीएचयू की साल्वर जूली पहुंची थी. जूली बहुत होनहार लड़की है और बीएचयू में बीडीएस सेकेंड इयर की छात्रा है. पिता बिहार के पटना में सब्जी बेचते हैं लेकिन मां और भाई के लालच मे फंसकर जूली होनहार स्टूडेंट्स से साल्वर बन गई.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज