एयरपोर्ट जैसा दिखता है वाराणसी का ये रेलवे स्‍टेशन, मौजूद हैं ये सुविधाएं

भारतीय रेलवे द्वारा दी गई नई सुविधाओं में एलईडी लाइट्स, एक वातानुकूलित वेटिंग लाउंज और स्टेनलेस स्टील बेंच शामिल हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 12, 2019, 5:13 PM IST
एयरपोर्ट जैसा दिखता है वाराणसी का ये रेलवे स्‍टेशन, मौजूद हैं ये सुविधाएं
वाराणसी का आलीशान मंडुआडीह रेलवे स्टेशन दिखता है एयरपोर्ट जैसा. (photo-twitter)
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 12, 2019, 5:13 PM IST
वाराणसी में फिर से बनाए गए मंडुआडीह रेलवे स्टेशन को वर्ल्‍ड क्‍लास रूप दिया गया है. कोई भी इस रेलवे स्टेशन को हवाईअड्डे का टर्मिनल समझ कर धोखा खा सकता है. यहां आठ प्लेटफार्म हैं और मौजूदा वक्‍त में हर रोज आठ ट्रेनें गुजरती हैं.

बनारस और काशी के नामों से चर्चित वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है और मंडुआडीह रेलवे स्टेशन पर मौजूद सुविधाएं इसे अलग बनाती हैं.

ये सुविधाएं बनाती हैं खास
भारतीय रेलवे द्वारा दी गई नई सुविधाओं में एलईडी लाइट्स, एक वातानुकूलित वेटिंग लाउंज और स्टेनलेस स्टील की बेंच शामिल हैं. जबकि फव्वारे उन क्षेत्रों को सुशोभित करने के लिए स्थापित किए गए हैं, जिनके पास एक बड़ा वेटिंग एरिया, बुकिंग और आरक्षण ऑफिस, कैफेटेरिया, फूड कोर्ट, वेटिंग रूम आदि बहुत कुछ है.

यही नहीं, स्टेशन में एसी और नॉन-एसी रिटायरिंग रूम के साथ-साथ डॉरमेट्री भी है. स्टेशन परिसर की वास्तुकला काशी की भावना को दर्शाती है. इसके अलावा प्लेटफार्म एलईडी लाइट्स और एलसीडी डिस्प्ले पैनल के साथ खूब चमक रहे हैं. साथ ही यहां साफ सफाई का खास खयाल रखा जा रहा है.

बदल सकता है नाम
मीडिया में आ रही खबरों पर यकीन किया जाए तो मोदी सरकार ने मंडुआडीह स्टेशन का नाम बदलकर 'बनारस' रेलवे स्टेशन रखने की योजना बनाई है.
बहरहाल, यह स्टेशन न केवल यात्रियों को विश्वस्तरीय सुविधा प्रदान करेगा, बल्कि यह वाराणसी के नागरिकों को रोजगार भी देगा.

(एजेंसी इनपुट)

ये भी पढ़ें: लखनऊ को अवैध डेयरियों से मिलेगी निजात, 21 से चलेगा ऑपरेशन ऑल आउट

यूपी में अब सेशन कोर्ट भी दे सकेंगे अग्रिम जमानत, गृह विभाग ने जारी किया आदेश

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास,सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदीWhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...