Home /News /uttar-pradesh /

Corona News: देश में कोरोना के नए वैरिएंट 'ओमिक्रोन' के खतरे के बीच अच्छी खबर,BHU के वैज्ञानिकों ने किया ये दावा

Corona News: देश में कोरोना के नए वैरिएंट 'ओमिक्रोन' के खतरे के बीच अच्छी खबर,BHU के वैज्ञानिकों ने किया ये दावा

कोरोना

कोरोना वैरिएंट से भारतीयों को खतरा नहीं BHU के स्टडी में सामने आए तथ्य

 कोरोना के नए स्ट्रेन 'ओमिक्रोन' को काफी खतरनाक माना जा रहा है.अब तक 13 देशों में कोरोना के इस नए वैरिएंट के मरीज मिल चुके है.इस अनजाने खतरे के बीच बीएचयू के वैज्ञानिकों की स्टडी में चौकानें वाला खुलासा हुआ है.बीएचयू के वैज्ञानिकों की टीम ने स्टडी के बाद ये दावा किया है कि कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से भारतीयों को खतरा नही है.

अधिक पढ़ें ...

    वाराणसी: साउथ अफ्रीका में मिले कोरोना (Corona) के नए स्ट्रेन ‘ओमिक्रोन’ (Omikron) को काफी खतरनाक माना जा रहा है.कोरोना के इस नए स्ट्रेन ने एक बार फिर दुनिया को इसके बारे में सोचने के लिए मजबूर कर दिया है.एक्सपर्ट लगातार इस नए वैरिएंट को लेकर रिसर्च कर रहे हैं.अब तक 13 देशों में कोरोना के इस नए वैरिएंट के मरीज मिल चुके है. इस अनजाने खतरे के बीच बीएचयू के वैज्ञानिकों की स्टडी में चौकानें वाला खुलासा हुआ है.बीएचयू(BHU) के वैज्ञानिकों की टीम ने स्टडी के बाद ये दावा किया है कि कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से भारतीयों को कोई खतरा नहीं है. BHU के जीव विज्ञानी प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे ने बताया कि वायरस के जीनोम सिक्वेंसिंग के स्टडी में ये बातें सामने आई है. इस मामले में भले ही संक्रमन के मामले तेजी से बढ़े लेकिन मृत्युदर डेल्टा वैरिएंट के मुकाबले काफी कम होगी. स्टडी में ये भी दावा किया गया है कि ओमिक्रोन में भी डेल्टा जैसा म्यूटेशन देखा गया है.

    प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे ने बताया कि हाल में ही भारत मे कोरोना की दूसरी लहर डेल्टा वैरिएंट के कारण आई थी.लिहाजा भारत के ज्यादातर लोगों में पहले से एंटीबॉडी है जिससे कारण यहां के लोगो पर ओमिक्रोन का ज्यादा असर नहीं पड़ेगा.

    70 फीसदी लोग हो चुके थे संक्रमित
    ऐसा इसलिए क्योंकि ICMR के चौथे सिरो सर्वे में ये बाते सामने आई है कि 70 फीसदी लोग डेल्टा वैरिएंट से प्रभावित होकर ठीक हो चुके हैं.ऐसे में सिर्फ रिइंफेक्शन रेत 5 से 10 फीसदी ही है.ऐसे में ये नया वैरिएंट भारत मे फैला भी तो उसका बहुत कम प्रभाव यहां देखने को मिलेगा.

    मई 2021 में हुई थी शुरुआत
    BHU के वैज्ञानिकों के इस स्‍टडी के मुताबिक,ओमिक्रोन की शुरुआत मई 2020 में अफ्रीकी देशों में हुई, लेकिन उस समय इसके संक्रमण की दर शून्‍य थी. 32 म्‍यूटेशन होने के बाद आज इस वैरिएंट का आर नॉट (आरओ) 2.0 से अधिक है,जबकि डेल्‍टा वेरिएंट का 1.6 था. ये नया म्‍यूटेशन एड्स के मरीज में हुआ और अब यह तेजी से फैल रहा है.यह उन अफ्रीकी लोगो को तेजी से चपेट में ले रहा है जो कि कोरोना की पहली और दूसरी लहर से अछूते रहे है.

    रिपोर्ट- अभिषेक जायसवाल- वाराणसी

    Tags: Corona news, Varanasi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर