होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

Azadi Ka Amrit Mahotsav: स्वतंत्रता दिवस पर दिखा अद्भुत नजारा, 52 सेकंड के लिए थम गई काशी

Azadi Ka Amrit Mahotsav: स्वतंत्रता दिवस पर दिखा अद्भुत नजारा, 52 सेकंड के लिए थम गई काशी

Azadi Ka Amrit Mahotsav: करीब एक मिनट के लिए थम गई काशी, एक साथ गया गया राष्ट्रगान

Azadi Ka Amrit Mahotsav: करीब एक मिनट के लिए थम गई काशी, एक साथ गया गया राष्ट्रगान

Varanasi Independence Day Celebration: सिगरा चौराहे पर सुबह 9:00 बजते ही ट्रैफिक सिग्नल रेड हो गया और सभी यात्री अपने वाहनों से उतर कर राष्ट्रगान गाने लगे. इस अद्भुत नजारे को देख हर किसी ने सभी को धन्यवाद दिया. कई ऐसे लोग भी मिले जिन्होंने कहा कि आज पहली बार लग रहा है कि देश की आजादी का महोत्सव एक पर्व की तरह मनाया जा रहा है. बताते चलें कि उत्तर प्रदेश सरकार के आह्वान के बाद सुबह 9:00 बजे पूरे प्रदेश भर में राष्ट्रगान का आयोजन किया गया था.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

9 बजते ही वाराणसी के सभी ट्रैफिक सिंग्नल रेड हो गए
जो जहां था वहीं अपने गाड़ियों से बाहर निकलकर राष्ट्रगान गाने लगा

वाराणसी. देश की आजादी का 76वीं वर्षगांठ के जश्न में पूरा देश डूबा हुआ है. हर तरफ लोग आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में स्वतंत्रता दिवस के इस पर्व पर अद्भुत नजारा देखने को मिला। घड़ी मैं जैसे ही सुबह के 9:00 बजे वैसे ही पूरी काशी नगरी थम गई. ट्रैफिक सिग्नल से लेकर सभी कार्य सुबह 9:00 बजे रोक दिए गए. सभी लोग अपने अपने स्थानों पर खड़े होकर राष्ट्रगान गया. 9 बजते ही प्रशासनिक विभाग के पब्लिक एडवाइजरी के लगे साउंड सिस्टम पर राष्ट्रगान बजने लगे.

तस्वीरों में दिख रहा यह नजारा कहीं और का नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का है. सिगरा चौराहे पर सुबह 9:00 बजते ही ट्रैफिक सिग्नल रेड हो गया और सभी यात्री अपने वाहनों से उतर कर राष्ट्रगान गाने लगे. इस अद्भुत नजारे को देख हर किसी ने सभी को धन्यवाद दिया. कई ऐसे लोग भी मिले जिन्होंने कहा कि आज पहली बार लग रहा है कि देश की आजादी का महोत्सव एक पर्व की तरह मनाया जा रहा है. बताते चलें कि उत्तर प्रदेश सरकार के आह्वान के बाद सुबह 9:00 बजे पूरे प्रदेश भर में राष्ट्रगान का आयोजन किया गया था.

मंत्रमुग्ध हुई काशी
इस अद्भुत नजारे ने काशी के हर नागरिक को मंत्रमुग्ध कर दिया. बड़ी बात ये दिखी कि राष्ट्रगान के प्रति सम्मान हर नागरिक के मन में नजर आया और सबने मिलकर बनारस की ट्रैफिक को करीब एक मिनट तक रोके रखा. वाराणसी की रहने वाली कामिनी पांडेय ने बताया कि यह नजारा अप्रतिम था. कोई भी ऐसा नहीं था जो रुका न हो और खड़े होकर राष्ट्रगान न गा रहा हो.

Tags: 75th Independence Day, Azadi Ka Amrit Mahotsav, Independence day, Varanasi news

अगली ख़बर