SC/ST Act पर बोले कलराज मिश्रा- मेरे ही सामने आए दुरूपयोग के कई मामले

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने इसको लेकर टिप्पणी की थी. जिसके बाद सभी लोगों ने अध्यादेश के विचार पर दबाव बनाया. तब जाकर सबकी सहमति से बिल सदन में पेश हुआ.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 5, 2018, 3:17 PM IST
SC/ST Act पर बोले कलराज मिश्रा- मेरे ही सामने आए दुरूपयोग के कई मामले
न्यूज18हिंदी
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 5, 2018, 3:17 PM IST
वाराणसी पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद एससी-एसटी संशोधन विधेयक के विरोध पर बोलते हुए कहा कि उनके ही सामने कई ऐसे मुद्दे आ चुके हैं जिसमें फर्जी तरीके से लोगों को फंसाया गया. वाराणसी में बोलते हुए कलराज मिश्रा ने कहा, "ये पक्ष और विपक्ष का मुद्दा नहीं है. मैं कानून के दुरुपयोग को रोकने के पक्ष में हूं. मैं सभी दल के नेता अपने यहां से फीडबेक को लें. सभी दल समाधान को लेकर विचार करें."

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने इसको लेकर टिप्पणी की थी. जिसके बाद सभी लोगों ने अध्यादेश के विचार पर दबाव बनाया. तब जाकर सबकी सहमति से बिल सदन में पेश हुआ. बिल के आने के बाद इसके क्रियान्वयन में धांधली हुई.

केंद्रीय मंत्री ने कहा "मेरे सामने फर्जी तौर पर फंसाने के कई केस सामने आए. फैजाबाद में एक परिवार के चार लोगों को फर्जी फंसाया गया. देवरिया में एक प्रधान को भी ऐसे ही फंसाया गया. मैने पुलिस से बात की तो एसओ ने कहा मैं जानता हूं कि फर्जी है. अगर संज्ञान नहीं लिया गया तो स्थिति खतरनाक होगी. मैने मायावती से कहकर कई बार दुरुपयोग को रुकवाया."

बीजेपी सांसद ने कहा कि इस समय दुरुपयोग बहुत खतरनाक तरीके से हो रहा है. समाज में इस कारण भिड़ंत हो सकती है. ये राजनीतिक नहीं, सामाजिक मुद्दा है.

उधर इलाहाबाद में कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने एससी-एसटी एक्ट पर कलराज मिश्र के बयान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि इससे बीजेपी का दोहरा व रहस्यवादी चरित्र सामने आया है. कलराज मिश्र के बयान से बीजेपी की दलित विरोधी मानसिकता उजागर हो गई है. कलराज के बयान से साफ़ है कि बीजेपी का दलित प्रेम सिर्फ दिखावा है और उसके राज में दलितों का काफी उत्पीड़न हो रहा है.

उन्होंने कहा बीजेपी सबका साथ सबका विकास का नारा तो देती है, लेकिन हकीकत में उसकी सरकारें सिर्फ कुछ लोगों का ही विकास करती हैं. अगर दलितों की हालत सही होती और उनका उत्पीड़न न होता तो सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट लाने की जरूरत न पड़ती. कांग्रेस हमेशा दलितों के समर्थन में खड़ी रहेगी और उनकी सुरक्षा व अधिकार की लड़ाई लड़ती रहेगी. इसके अलावा एससी-एसटी एक्ट भी कांग्रेस पार्टी के दबाव की वजह से लाया गया है.

(इनपुट: उपेंद्र द्विवेदी)

यह भी पढ़ें:

यूपी PWD घोटाला: 6 अफसरों पर कसा शिकंजा, निलंबन की संस्तुति

यूपी: प्रतियोगी परीक्षाओं में पेपर लीक करने वालों पर लगेगा रासुका

Teachers' Day 2018: बेहाल हैं यूपी के 1.7 लाख शिक्षामित्र, 700 की गई जान
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर